आप यहां हैं : होम» राज्य

जलीकट्टू पर जनता एक हो सकती है तो ट्रिपल तलाक पर मुस्लिम क्यों नहीं: ओवैसी

Reported by nationalvoice , Edited by pooja-singh , Last Updated: Jan 27 2017 11:29AM
obesi_2017127112940.jpg

नई दिल्ली:ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन  पार्टी  के मुखिया ओवैसी ने आज एक ऐसा बयान दिया जिसे सुनकर आप भी दंग  हो जाएगे। इनका मनना है कि अगर तमिनलाडु में जलीकट्टू के समर्थन के लिए वहां की जनता एक हो सकती है तो मुस्लिम भी ट्रिपल तलाक पर एक होकर पूरानी परंपरा को क्यों नहीं बचा सकते हैं।

ओवैसी  ने अलीगढ़ में पार्टी के उम्मीदवार के समर्थन में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मरीना बीच पर जलीकट्टू प्रथा के समर्थन में लाखों लोग निकले तो दिल्ली तक हवा फैल गई कि लोग अपनी तहजीब को बचाने के लिए निकले हैं और सुप्रीम कोर्ट में मुकदमा चलने के बावजूद, वहां कानून बदल गया तो मुस्लिमों को भी सड़क पर उतरना चाहिए और पोलिंग बूथ तक पहुंचना चाहिए और अपने हक के लिए लड़ना चाहिए।

ओवैसी के मुताबिक मुसलमानों ने 65 साल तक दूसरों पर भरोसा किया अब उन्हें अपनों को मौका देना चाहिए। उन्होंने अपने समर्थकों से अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के अल्पसंख्यक दर्जे को बचाने के लिए भी कहा।

पीएम पर साधा निशाना

ओवौसी यही नहीं रुके उन्होंने 26 जनवरी को मुख्य अतिथि बन कर आए अबु धाबी के युवराज शेख मोहम्मद बिन जायेद की अगुवानी का जिक्र करते हुए ओवैसी ने मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा उनका कहना था कि प्रधानमंत्री एक इस्लामिक देश के नाम का झुककर स्वागत करते हैं तो फिर अपने मुल्क में दाढ़ीवालों से नफरत क्यों करते हैं।

सीएम अखिलेश पर साधा निशाना

उन्होंने यूपी के सीएम अखिलेश यादव पर भी निशान साधा है और कहा क वह पहले अपने बाप के हो जाए फिर गरीबों की हित की बात करें।

 

 


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।