आप यहां हैं : होम» राज्य

निदा खान के खिलाफ जारी हुआ फ़तवा, हुक्का पानी बंद

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Jul 16 2018 9:58PM
fatva_2018716215852.jpg

बरेली. हलाला, 3 तलाक़ और बहुविवाह जैसी कुरीतियो के खिलाफ आवाज उठाने वाली आला हजऱत खानदान की बहु निदा खान के खिलाफ फतवा जारी हुआ है. दरगाह आला हजरत के दारुल इफ्ता से निदा खान के खिलाफ जारी फतवे में कहा गया है कि निदा अल्लाह, के बनाये कानून की मुखालफत कर रही हैं. जिस वजह से उनके खिलाफ फतवा जारी हुआ है.

शहर इमाम मुफ़्ती खुर्शीद आलम ने दरगाह आला हजरत पर हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि निदा का हुक्का पानी बन्द कर दिया गया है. फतवे में कहा गया है कि निदा की मदद करने वाले, उससे मिलने जुलने वाले मुसलमानों को भी इस्लाम से खारिज किया जाएगा. निदा अगर बीमार हो जाती है तो उसको दवा भी नहीं दी जाएगी. निदा की मौत पर जनाजे की नमाज़ पढ़ने पर भी रोक लगा दी गई है. इतना ही नहीं निदा के मरने पर उसे कब्रिस्तान में दफनाने पर भी रोक लगा दी गई है.

वहीं इस मामले में निदा खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पलटवार करते हुए कहा कि फतवा जारी करने वाले पाकिस्तान चले जाएं. उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान एक लोकतांत्रिक देश है यहां दो कानून नहीं चलेंगे. उन्होंने कहा कि यह लोग सिर्फ राजनीति चमका रहे हैं. इस्लाम से खारिज करने वाले यह होते कौन हैं. शरीयत पहले वह अपने घर पर जाकर लागू करें फिर आवाम पर लागू करें, क्योंकि उनको शरीयत के नाम पर आवाम को भड़काना आता है.

निदा ने कहा कि उनके घर में पहले से हराम काम हो रहा है. दारुल इफ्ता में मर्दों से पैसे लेकर उनके पक्ष में फ़ैसला दे दिया जाता है और औरतों को इंसाफ नहीं मिलता. निदा ने कहा कि उन लोगों की इस हरकत से उन्हें नुकसान हो रहा है इसलिए उन पर क्लेम करूंगी.

तौक़ीर रज़ा भी तो इस्लाम से खारिज हो चुके हैं. तौक़ीर रज़ा जब देवबंद गए थे. तब उन्हें भी इस्लाम से खारिज कर दिया गया था, लेकिन उन्होंने तो दोबारा कलमा नहीं पढ़ा. जबकि तौक़ीर के खिलाफ मस्जिदों से ऐलान भी हो गया था. पूरी शरीयत इन लोगों ने अपने हिसाब से मैन्युकुलेट कर रखी है.

पुराना शहर के मुहल्ला शाहदाना निवासी निदा खान की शादी 16 जुलाई 2015 को आला हजरत खानदान के उसमान रजा खां उर्फ अंजुम मियां के बेटे शीरान रजा खां से हुआ था. अंजुम मियां आल इंडिया इत्तेहादे मिल्लत काउंसिल के मुखिया मौलाना तौकीर रजा खां के सगे भाई हैं. निदा का कहना है कि शादी के बाद से ही उसके साथ मारपीट की गई. जिससे उसका गर्भपात हो गया. शौहर शीरान रजा खां ने 5 फरवरी 2016 को 3 तलाक़ देकर घर से निकाल दिया.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।