आप यहां हैं : होम» राज्य

बरेली में कांवड़ यात्रा को लेकर रास्ता विवाद में तनाव

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Aug 19 2018 9:39PM
kanvar_2018819213945.jpeg

बरेली. सावन के आखिरी सोमवार से पहले कांवड़ यात्रा निकालने को लेकर बरेली में विवाद बढ़ गया है. खजुरिया गांव के कांवड़िए उमरिया गांव से कांवड़ यात्रा निकालने की जिद पर अड़े हुए हैं, जबकि प्रशासन ने मुस्लिम बाहुल्य उमरिया गांव से यात्रा निकालने की अनुमति नहीं दी है. इस जिद में बीजेपी विधायक राजेश मिश्रा भी अड़े हैं. विवाद को बढ़ता देख प्रशासन ने विधायक को उनके कार्यालय में नज़रबंद कर दिया है.

बिथरी चैनपुर विधानसभा क्षेत्र के खजुरिया गांव के कांवड़िए कछला से गंगा जल लाकर गांव के मंदिर में जलाभिषेक करते हैं. पिछले रविवार को भी रास्ते को लेकर विवाद हुआ था. कांवड़िए मुस्लिम बाहुल्य उमरिया गांव के रास्ते से निकलना चाहते हैं जबकि प्रशासन का कहना है कि पहले कभी इस रास्ते से कांवड़ नहीं निकली है. इसलिए नई परंपरा को इजाजत नहीं दी जा सकती है. इलाके में तनाव को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात किया गया है.

इस मामले में विधायक राजेश मिश्रा उर्फ़ पप्पू भरतौल का कहना है कि प्रशासन मनमानी पर उतारू है और मुझे नजरबंद कर दिया है. एक तरह से माना जाए तो गिरफ्तार कर लिया है. हमारे कार्यालय को छावनी बना दिया है. विधायक का कहना है कि पहले भी यात्रा उमरिया गाँव से निकलती रही है लेकिन इस बार जिलाधिकारी ने रोक लगा दी है. जो कि गलत है और वह इसकी शिकायत शासन से करेंगे.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।