आप यहां हैं : होम» राज्य

शहीद का राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Aug 20 2018 2:34PM
aligarh-1_201882014345.jpg

अलीगढ़. जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा में अलीगढ़ के शहीद जवान दलवीर सिंह का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया. शहीद के बड़े भाई सत्यवीर सिंह ने मुखाग्नि दी. शहीद की अंतिम यात्रा में हजारों लोगों ने नम आंखों से उन्हें श्रद्धांजलि दी. प्रभारी मंत्री सुरेश राणा ने शहीद के पार्थिव शरीर को कांधा दिया.

शहीद जवान दलवीर सिंह 7 साल पहले  57 राष्ट्रीय राइफल में भर्ती हुआ था. 18 अगस्त को कुपवाड़ा में नियंत्रण रेखा पर गुलाब पोस्ट के पास माइन ब्लास्ट में दलवीर सिंह शहीद हुए थे. सीएम योगी आदित्यनाथ ने शहीद के परिजनों को 25 लाख रुपये की आर्थिक सहायता और परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की घोषणा की है.

मंत्री सुरेश राणा ने इस मौके पर कहा कि देश ऐसे सपूतों और परिवारों की वजह से ही सुरक्षित है. शहीद की अंतिम यात्रा में आसपास क्षेत्र के हजारों लोगों की भीड़ शामिल हुई. शहीद के भाई सत्यवीर सिंह  ने बताया कि मेरा भाई सौम्य स्वभाव का होने के साथ होनहार था, उसने सेना में भर्ती होने की ठानी ओर 7 वर्ष पूर्व सेना भर्ती हुआ था. अपनी ड्यूटी के प्रति वह कर्तव्यनिष्ठ था, वह जब छुट्टी आता था तो क्षेत्र के लोगों को सेना में भर्ती होने के लिए गुर सिखाता था, उसकी ख्वाहिश थी गांव के आस पास एक ग्राउंड बने और छुट्टी आने पर वह इसके लिए प्रयास भी करता था.

57 राष्ट्रीय राइफल का शहीद दलवीर सिंह एक होनहार और जांबाज जवान था. वह हमेशा अपनी ड्यूटी के प्रति सजग रहता था,18अगस्त को नियंत्रण रेखा पर कुपवाड़ा में गुलाब पोस्ट के निकट माइन ब्लास्ट में वह शाहिद हो गए. 18 अगस्त को दोपहर दलवीर का फोन आया और उसने मुझसे मेरी कुशलता ली और कहा आप मेरी बिल्कुल चिंता मत करना और सही से रहना. इसके बाद उसने मायके में गयी अपनी पत्नी से फोन पर बात की ओर सांय के साढ़े छह बजे उसकी मौत की खबर आई.

जवान दलवीर सिंह की सीमा पर कुपवाड़ा में वीरता के साथ शहादत हुई है, लेकिन ऐसे भारत माता के सपूतों ओर परिवारों की वजह से देश सुरक्षित है. मुख्य मंत्री ने शहीद के पीड़ित परिवार को 25 लाख रुपये की आर्थिक सहायता और एक परिवार के सदस्य को नौकरी देने की घोषणा की है. मुख्यमान्त्री की मंशा है कि शहीद की ख्वाहिश के अनुसार गांव में एक ग्राऊंड बनाया जाएगा.

अलीगढ़ के पूर्व कांग्रेस सांसद विजेंद्र सिंह ने कहा कि जवानों पर देश को गर्व है. मैं शहीद जवान की शहादत को नमन करता हूँ, लेकिन सरकार को बड़ी बड़ी बात करना छोड़ कर सीमा पर लगातार हो रही जवानों की शहादत के बारे में सोचना चाहिए. सीमा पर जहां एक ओर जवानों की शहादत हो रही है. वहीं दूसरी ओर नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान के सेना प्रमुख से गले मिल रहे हैं. उन्होंने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान जाने का में विरोध करता हूं. अगर गये थे उनको वहाँ के सैन्य अधिकारियों से इस प्रकार से नहीं मिलना था, इस बात का विरोध में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी जी से दर्ज कराऊंगा.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।