आप यहां हैं : होम» राज्य

क्या हार के डर से रद्द हुआ गोरखपुर विश्वविद्यालय चुनाव

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Sep 12 2018 6:06PM
gkp university_20189121865.jpg

गोरखपुर. गोरखपुर विश्वविद्यालय का छात्रसंघ चुनाव अराजकता की भेंट चढ़ गया है. विश्वविद्यालय प्रशासन ने कैंपस में छात्र के दो गुटों में मारपीट की घटना को संज्ञान में लेते हुये छात्रसंघ चुनाव स्थगित कर दिया है. छात्रसंघ चुनाव स्थगित किये जाने से आक्रोशित छात्र धरने पर बैठ गये हैं. खासकर समाजवादी छात्रसभा की अध्यक्ष प्रत्याशी अन्नू प्रसाद अपने समर्थकों के साथ विश्वविद्यालय के प्रशासनिक गेट पर धरने पर बैठ गयी हैं.

हालांकि शांतिपूर्ण तरीके से अन्नू प्रसाद ने विश्वविद्यालय प्रशासन से चुनाव कराये जाने की मांग की है. इसके साथ ही अन्नू प्रसाद ने विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ आरोप लगाते हुये कहा है कि एबीवीपी के प्रत्याशी की हार को देखते हुये विश्वविद्यालय प्रशासन ने साजिश के तहत चुनाव को स्थगित किया है. अन्नू ने कहा है कि अगर दो छात्र गुटों में मारपीट हुई थी तो विश्वविद्यालय प्रशासन को आरोपित छात्रनेताओं के खिलाफ केस दर्ज कराने के साथ ही उन पर कार्रवाई करनी चाहिये थी.

गौरतलब है कि कल एबीवीपी और निर्दल प्रत्याशी के बीच जमकर मारपीट हुई थी. जिसके बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने सलाहाकार समिति की बैठक के बाद चुनाव को स्थगित किया है. दिलचस्प है कि सत्र 2018-19 के छात्रसंघ चुनाव को लेकर कल वोटिंग होनी थी. लेकिन कैंपस में अराजकता का हवाला देकर चुनाव को स्थगित कर दिया गया है.

एहतियतन दो दिनों के लिए विश्वविद्यालय को बंद कराने का निर्णय लिया गया है. जिसके बाद से विश्वविद्यालय कैंपस और हास्टल के पास भारी पुलिस फोर्स की तैनाती की गयी है.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।