आप यहां हैं : होम» धर्म-कर्म

सोलह श्रृंगार के बाद चाँद की राह तक रही हैं सुहागिनें

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Oct 27 2018 8:03PM
karvachauth_2018102720319.jpg

फर्रुखाबाद. पूरे देश में सुहागिन महिलाएं करवा चौथ का व्रत रख कर अपने पति की दीर्घायु की कामना कर रही हैं. करवा चौथ पर पिया मन भाने के लिए महिलाएं सोलह श्रृंगार कर रही हैं. करवाचौथ का इंतजार हर सुहागिन को ब्रेसबी से होता है. दिन भर अन्न-जल त्याग कर जब रात को पत्नियाँ सज-सँवरकर, हाथों में पूजा की थाली लिए छलनी से चाँद को निहार कर अपने पति के हाथों से पानी पीती हैं तो पत्नियों को उनके व्रत का प्रतिसाद मिलता है.

करवा चौथ व्रत और पूजन की खास क्रिया विधि है. पर पुलिस सेवा में आयी महिलाओं के लिए करवा चौथ का व्रत खास इम्तहान लेकर आता है. त्योहारी मौसम में पड़ने वाले करवा चौथ पर्व के लिए महिला पुलिस कर्मियों को अवकाश मिल पाना संभव नहीं है, इसलिए वे अपनी ड्यूटी को सजगता के साथ करने के साथ ही करवा चौथ का व्रत भी रखे हैं.

पति की लंबी उम्र की कामना के लिए करवाचौथ पर्व पर इस बार हाईटेक असर देखने को मिला. जिन महिलाओं के पति शहर से दूर थे, उन्होंने पहले चांद की पूजा की फिर वीडियो कॉलिंग कर पति का चेहरा छलनी में देखा. पति ने भी वीडियो कॉलिंग पर ही पत्नी को आशीर्वाद देकर उनका व्रत खुलाया. पति के हाथों पानी ग्रहण कर महिलाओं ने अपना व्रत खोला. करवा चौथ को लेकर सुबह से ही बाजार में चहल-पहल थी. सुहागिनों ने पूरे दिन पूजा-अर्चना की. व्रत कथा सुनी.

मान्यतानुसार इसके बाद शाम को सोलह शृंगार किए. इसके बाद आरती सजाकर महिलाएं छत पर पहुँचीं और चांद निकलने का इंतजार करने लगीं. चांद को छलनी लगाकर देखा और पूजा की. थाना प्रभारी पूनम जादौन बताती हैं कि उनके थाने में दस विवाहित सिपाही हैं और उनमे से कोई करवा चौथ की छुट्टी लेकर व्रत नहीं कर रही है. सभी व्रत भी कर रहे हैं और ड्यूटी भी कर रहे हैं. ड्यटी के साथ व्रत रखना कठिन है पर करते हैं. कई बार चुनाव आदि की अत्यधिक व्यस्तता रही और शाम को पूजा की तैयारी के लिए आधा घंटे का ही समय मिल पाया.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।