आप यहां हैं : होम» राज्य

कुम्भ क्षेत्र में धीमी गति में बन रहे हैं आस्थाई पुल

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Nov 9 2018 12:31PM
Kumbh-mela_2018119123144.jpg

इलाहाबाद. कुम्भ 2019 में हो रहा निर्माण कार्य सरकार और प्रशासन के लिए एक बड़ी चुनौती बन गया है. कुंभ के स्थाई कार्य काफी पिछड़े हुए हैं. अस्थाई कार्यों की गति भी धीमी है. मेला शुरू होने तक पान्टून पुलों का निर्माण पूरा करना टेढ़ी खीर दिखाई दे रहा है. कुम्भ क्षेत्र के लिए बन रहे 22 पांटून पुल तय समय से पहले तैयार होना अब मुश्किल लग रहा है. हालांकि पांटून पुल में कार्य कर रहे लोगों का कहना है कि तय समय से पहले काम पूरे कर लिए जाएंगे. इसके लिए रात दिन युद्ध स्तर पर अधिकारी काम को अंजाम देने में जुटे हुए हैं. लेकिन पांटून पुल निर्माण को लेकर इस समय जितना काम होना चाहिए उतना नही हुआ है.

प्रशासन ने 30 नवम्बर तक शहर में सभी निर्माण कार्य पूरे करने का निर्देश दिया है, जब कि सभी पांटून पुल बनकर तैयार करने की डेडलाइन 25 दिसम्बर है, लेकिन अभी तक पांटून पुल के कार्य गति संतोषजनक नहीं दिख रही है. संगम क्षेत्र में एक भी पांटून पुल का कार्य पूरा नहीं हुआ है. जबकि 22 पांटून पुल को बनाने का लक्ष्य है. एक पांटून पुल बनने में सप्ताह भर का समय लगता है. 47 दिन के समय में 22 पुल तैयार करना एक बड़ी चुनौती से कम नहीं है.

हमारी टीम ने पांटून पुल के निर्माण कार्य का जयज़ा लिया. आधी रात को कुम्भ क्षेत्र के परेड ग्राउंड पर बन रहे पांटून पुल काम तो हो ही रहा है, लेकिन रात होने के कारण कारीगर थोड़े कम दिखाई दिए. अचानक से कैमरा देखते ही कार्य कर रहे लोगों में ऊर्जा दिखाई देने लगी. रात की शिफ्ट में तैनात शिफ्ट इंचार्ज से जब हमने बात की तो उनका कहना था कि रात दिन कार्य चल रहा और तय समय पर कार्य पूरे हो जाएंगे.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।