आप यहां हैं : होम» राज्य

जूना अखाड़े के संतों के खिलाफ दुष्कर्म मामले की जांच शुरू

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Dec 30 2018 5:50PM
golden baba_2018123017501.png

हरिद्वार. जूना अखाड़े के दो संतों पर अपने शिष्य के साथ दुष्कर्म करने का आरोप लगाने वाले गोल्डन बाबा की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने जांच शुरू कर दी है. एसएसपी ने जल्द जांच कर कार्रवाई के आदेश दिए हैं. वहीं, गोल्डन बाबा ने चेतावनी दी है कि अगर इंसाफ नहीं मिला तो वे दिल्ली में प्रधानमंत्री के आवास पर भी धरना देने से पीछे नहीं हटेंगे. जूना अखाड़े से निष्कासित किए गए गोल्डन बाबा ने पिछले दिनों अखाड़े के दो संतों पर अपने शिष्य के साथ दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था.

शनिवार को हरिद्वार पहुंचे गोल्डन बाबा ने पत्रकारों से कहा कि इस सम्बन्ध में हरिद्वार पुलिस से शिकायत की गई थी, लेकिन 20 दिन बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई. उन्होंने आरोप लगाया कि शिष्य के साथ दुष्कर्म के मामले में न्याय की मांग करने पर ही उन्हें अखाड़े से निष्कासित किया गया है.

उन्होंने कहा कि मुझ पर समझौते का दबाव भी बनाया जा रहा है, लेकिन मैं न्याय के लिए किसी भी स्तर तक जाने को तैयार हूं. उन्होंने कहा कि दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आवास पर धरना देंगे. गोल्डन बाबा ने कहा कि प्रयागराज कुंभ की तैयारियों के दौरान उनके शिष्य ने पहली बार उन्हें अपने साथ दुष्कर्म की जानकारी दी. इस पर उन्होंने जूना अखाड़े में शिकायत की, लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया गया. इसके बाद उन्होंने हरिद्वार आकर एसएसपी को प्रार्थना पत्र देकर कार्रवाई की मांग की. इस संबंध में प्रयागराज पुलिस से भी शिकायत की गई है.

गोल्डन बाबा ने आज जूना अखाड़े के सचिव प्रेम गिरी पर कई गंभीर आरोप लगाए. अपने शिष्य राजराजेश्वर पुरी के साथ मीडिया के सामने आकर उन्होंने सन्तों के काले चिट्ठे खोल दिए. यदि उनके आरोपों को सही मानें तो सन्तों की वर्तमान स्थिति को लेकर चिंता जाहिर करना स्वभाविक है.

दिल्ली में बिट्टू लाइट वाले के नाम से मशहूर जिस गोल्डन बाबा को जूना अखाड़े ने पनाह दी आज जूना अखाड़े से निष्काषित किए जाने के बाद मीडिया के सामने आए गोल्डन पूरी महाराज ने बड़ा खुलासा करते हुए जूना अखाड़े के सन्तों पर कई गंभीर आरोप लगाए. मीडिया के सामने आए गोल्डन बाबा ने जूना अखाड़े के सचिव प्रेम गिरी पर कई गंभीर आरोप लगाए इतना ही नहीं उन्होंने आरोप लगाया कि उनके शिष्य के साथ प्रेमगिरि उल्टी सीधी हरकत की है. जबकि यह जानकारी अखाड़े के कई दूसरे सन्तों को भी है, लेकिन उसके खिलाफ कोई अखाड़े में उसके खिलाफ नहीं बोलता. उन्होंने कहा की पहले ये छोटे छोटे बच्चो को अपना शिष्य बनाता है फिर उनके साथ उल्टी सीधी हरकत करता है. लगातार मेरे शिष्य को प्रताड़ित किया जा रहा था. वो किसी तरह जान बचाकर वहां से भागा हैं. मेरी आँख से आंख मिलाकर वह बताएं कि मुझे किस आधार पर निष्काषित किया गया है.

वहीं वर्तमान में गोल्डन पुरी महाराज के शिष्य राजराजेश्वरपुरी ने अपनी आपबीती सुनाते हुए कहा कि प्रेम गिरी महाराज ने बीसियों बार मेरी साथ गलत काम किया है. मालिश कराने के बहाने हमारे साथ महाराज जी गन्दा काम करते थे, लेकिन मैंने डर की वजह से किसी को नहीं बताया था. मुझे मारने पीटने, खाना न देने और गंगा जी में फिंकवाने की धमकी दी गयी थी. एक दिन में किसी तरह इनके पास से भाग गया था. चार साल पहले इन्होंने मेरे साथ गलत काम किया है.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।