आप यहां हैं : होम» राज्य

फलदार पेड़ों पर आरी चला रहे हैं भू माफिया

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Jan 28 2019 3:51PM
bhoo maafiya_2019128155116.jpg

काशीपुर. उधम सिंह नगर में भूमाफियों का तांडव थमने का नाम नहीं ले रहा है. प्रशासन की मिलीभगत से भूमाफ़िया हरे भरे फलदार पेड़ों को काट कर कॉलोनी निर्माण करने में लगे हैं. हैरानी की बात यह है कि स्थानीय प्रशासन सब कुछ जानते हुए भी अपनी आंखें बंद किए बैठा है.

ताजा मामला है काशीपुर का. जहां पर भूमाफिया एक आम के बगीचे को काट कर भूमि को खुर्दबुर्द करने में लगे हैं. यहां पर पिछले कई सालों से आम का बगीचा है. जहां हर साल आम के सीजन में बाग का ठेका दिया जाता था, लेकिन भू माफियाओं ने फलदार आम के बाग पर आरियां चला दीं. वहीं जब इस मामले में काशीपुर एसडीएम और उद्यान विभाग के अधिकारियों से पूछा गया तो उन्होंने कार्रवाई की बात को कहकर पूरे मामले को टालने की कोशिश की. काशीपुर में भूमाफियाओं के हौसले बुलंद जमीनों पर हो रहे हैं अवैध कब्जे. बगीचों पर कब्जे के बाद कॉलोनियां बन रही हैं.

काशीपुर में भू माफियाओं का कहर जमकर देखने को मिल रहा है. जिन्हें न तो अधिकारियों का डर है और न ही कानून की परवाह. यह भूमाफिया हरे-भरे फलदार वृक्षों को काटकर कंक्रीट के जंगलों में तब्दील कर रहे हैं, लेकिन अधिकारी हैं कि सब कुछ देख कर भी अनदेखा कर रहे हैं और मात्र कार्रवाई की बात कह कर खानापूर्ति कर रहे हैं.

मामला काशीपुर के रामनगर रोड का है. जहां विगत लंबे समय से एक आम का बगीचा है. जहां हर वर्ष आम के सीजन में बाग का ठेका किया जाता था, लेकिन भू माफियाओं ने फलदार आम के बाग पर आरियां चला दीं. भूमि स्वामी ने उद्यान विभाग से सूखे हुए पेड़ों को काटने की अनुमति ली थी. जिस पर उद्यान विभाग ने जमीन स्वामी को 40 पेड़ों को काटने की परमिशन दे दी. जहां पर मात्र 10 पेड़ ही सूखे हुए खड़े थे, लेकिन भू माफियाओं ने करीब 62 पेड़ों पर आरी चला कर पूरे बाग़ को ही साफ कर दिया.

जब इस मामले में काशीपुर एसडीएम और उद्यान विभाग के अधिकारियों से पूछा गया तो उन्होंने कार्रवाई की बात कह कर पूरे मामले को ही हल्के में रख दिया. यही नहीं कुछ वर्ष पूर्व रामनगर रोड पर एक भाग को काटकर कॉलोनी भी बनाई जा चुकी है लेकिन इसके बावजूद भी हरे-भरे फलदार वृक्षों को काटने की अनुमति विभाग ने कैसे दे दी.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।