आप यहां हैं : होम» राज्य

भूख लगने पर बिस्कुट चुरा लिया तो बच्चे को पीट-पीटकर मार डाला

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Mar 29 2019 4:30PM
dead-body_2019329163025.jpg

देहरादून. सातवीं क्लास के एक बच्चे को भूख लगने पर एक दुकान से बिस्कुट का पैकेट चुरा लेना इतना महंगा पड़ा कि स्कूल में सजा के नाम पर पीट-पीटकर उसकी हत्या कर दी गई. रानिपोखरी के चिल्ड्रेन्स होम स्कूल में छात्र की हत्या की जांच करने पहुंची बाल संरक्षण आयोग की टीम सख्त नजर आ रही है. जांच के बाद टीम ने शिक्षा विभाग और समाज कल्याण विभाग से स्कूल की मान्यता रद्द करने की संस्तुति की है.

इसी 10 मार्च को 7वीं क्लास के छात्र की स्कूल में हत्या कर दी गई थी. छात्र पर एक दुकान से बिस्किट का पैकेट चुराने का आरोप था. जिस पर स्कूल में उसकी डंडों से पिटाई की गई थी. पिटाई के दौरान छात्र के शरीर में अंदरूनी चोटें आई थीं, जिससे उसकी मौत हो गई थी, लेकिन स्कूल प्रबंधन ने मामला छिपाने के लिए लाश को स्कूल में ही दफ्ना दिया था, और परिजनों को फूड प्वाइजनिंग से मौत होने की बात कही थी, लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा होने के बाद परिजनों ने स्कूल प्रबंधन पर केस दर्ज कराया था. जिसकी जांच के लिए पहुंची उत्तराखण्ड बाल संरक्षण आयोग टीम ने अब स्कूल की मान्यता रद्द करने की संस्तुति की है.

उत्तराखंड बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष उषा नेगी ने भोगपुर के चिल्ड्रेन्स होम पहुंचकर पूरे स्कूल परिसर का बारीकी से निरीक्षण किया और स्कूल में पढ़ने और रहने वाले छात्रों से जानकारी ली. मीडिया से बात करते हुये बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष उषा नेगी ने चिल्ड्रेन्स होम मे हुई घटना पर नाराजगी जताते हुये कहा कि बाल आयोग इस मामले पर गंभीर है और स्कूल की एनओसी की जांच कराकर देखा जाएगा कि कैसे इस स्कूल को मान्यता मिली और  अगर खामियां मिलेंगी तो स्कूल के मालिकों के खिलाफ पुलिस मे शिकायत कराकर कार्रवाई की मांग करेंगे.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।