आप यहां हैं : होम» धर्म-कर्म

जीवन की कठिनाइयों से छुटकारा दिलाती हैं माँ कालरात्रि

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Apr 12 2019 5:43PM
Maa-Kalratri_2019412174345.jpg

वाराणसी. देवी के सप्तम स्वरूप माँ कालरात्रि के दर्शन से सभी कठिनाइयों से छुटकारा मिल जाता है. नवरात्र में आज माँ के सप्तम रूप का दर्शन हो रहा है. तो आइये हम आपको ले चलते हैं धर्म नगरी काशी की कलिका गली जहाँ माँ कालरात्रि देवी का भव्य और अति प्राचीन मंदिर विद्यमान है.

नवरात्रि की सप्तम तिथि को मां कालरात्रि के दर्शन का विधान है.  दर्शनार्थियो की भीड़ को देखते हुए मंदिर परिसर के आसपास सुरक्षा के पुख्ता इंतज़ाम भी किये गए हैं.

माँ के सप्तम स्वरूप कालरात्रि देवी की विधिवत पूजा की जाती है. सुबह भोर से ही माँ की आरती के बाद भक्तों के दर्शन का सिलसिला शुरू हो जाता है. माँ की एक झलक पाकर भक्त निहाल हो उठते हैं.  भक्तों का मानना है कि माँ के दर्शन पूजन से अनेक प्रकार के लाभ होते हैं. मां के भव्य स्वरूप के दर्शन जीवन में आने वाले समस्त काल का विनाश होता है. मां कालरात्रि को शत्रु नाशक देवी माना जाता है. इसलिए यहां भक्तों की भीड़ रहती है.

यहां मां को नारियल बलि के रूप में चढ़ाने की परम्परा है. मां को चुनरी के साथ लाल अड़हुल की माला चढ़ाई जाती है. माँ के दर्शन मात्र से भय से मुक्ति मिलती है. साथ ही यहां अगर वे शादीशुदा दम्पति दर्शन पूजन करें तो जिनका वैवाहिक जीवन ठीक नहीं चलता तो उनके जीवन में भी रिश्ते ठीक होते हैं.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।