आप यहां हैं : होम» राज्य

लगातार बारिश और बर्फबारी से श्रद्धालुओं की दिक्कतें बढ़ीं

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: May 16 2019 9:57AM
kedarnath_snow_201951695741.jpeg

रुद्रप्रयाग. द्वादश ज्योर्तिलिंगों में ग्यारहवें ज्योर्तिलिंग भगवान केदारनाथ की यात्रा शुरू हुए अभी मात्र चार दिन हुए हैं, लेकिन यात्रा के शुरूआती चरण में ही मौसम की मार पड़ रही है. केदारनाथ धाम में जहां आये दिन बर्फबारी हो रही है, वहीं निचले क्षेत्रों में बारिश होने से यात्रियों की दिक्कतें बढ़ गई हैं.

केदारनाथ में ठंड अत्यधिक बढ़ गई है. पैदल मार्ग पर जगह-जगह ग्लेशियर और बर्फ होने से यात्रियों को कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. नौ मई को केदारनाथ के कपाट खुले थे. अभी तक 32 हजार तीर्थ यात्री केदारनाथ के दर्शन कर चुके हैं. कपाट खुलने के बाद से केदारनाथ धाम में लगातार बर्फबारी और बारिश हो रही है. जिस कारण कई प्रकार की दिक्कतें हो रही हैं.

केदारनाथ मंदिर से सरस्वती नदी तक आधा किमी के दायरे में रास्ता तो पचास मीटर चौड़ा है, लेकिन इस रास्ते पर बर्फबारी और बारिश से बचने के लिये कहीं भी रैन शेल्टर की सुविधा नहीं है. रास्ते के आस-पास एक भी दुकान न होने से दिक्कतें अधिक बढ़ रही हैं. बारिश और बर्फबारी होने पर यात्रियों को भीगने के साथ ही ठंड का सामना करना पड़ रहा है. पैदल मार्ग पर जहां-जहां ग्लेशियर बने हैं, वहां-वहां पैदल मार्ग पर फिसलन बढ़ रही हैं.

अधिकांश यात्री घोड़े-खच्चरों से गिरकर भी चोटिल हो रहे हैं. हालांकि यात्रियों को सही समय पर चिकित्सालय पहुंचाया जा रहा है, दिक्कतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. केदारनाथ धाम में बारिश और बर्फबारी में यात्री भीग रहे हैं. केदारनाथ मंदिर के आगे कहीं भी बारिश और बर्फबारी से बचने का कोई इंतजाम नहीं है.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।