आप यहां हैं : होम» राज्य

सातवें और अंतिम चरण के चुनाव के लिए तैयारी पूरी

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: May 18 2019 12:26PM
Election_2019518122613.jpg

वाराणसी. 19 मई को सातवें और अंतिम चरण के मतदान को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. पोलिंग पार्टियों को किसी प्रकार की असुविधा न हो इस को ध्यान में रखते हुए मतदान स्थल पर भी पोलिंग पार्टियों को किसी प्रकार की असुविधा न हो, गर्मी को देखते हुए वहां पर पीने के पानी की व्यवस्था, शौचालय की व्यवस्था, पंखे और कूलर की व्यवस्था की गई है.

जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह ने बताया कि वाराणसी जनपद में एक प्रयोग किया गया है. एक ही जगह से एक विधानसभा के लिए पोलिंग पार्टी रवाना होगी. उन्होंने बताया कि चुनाव ड्यूटी में जा रहे लोगों को अपना साथी, और सेक्टर मजिस्ट्रेट को ढूंढने में दिक्कत होती थी. बेसिक फैसिलिटी भी हम उपलब्ध नहीं करा पाते थे. इसलिए सातों विधानसभा में सात अलग-अलग जगह से पोलिंग पार्टी रवाना होगी.

इसमें वाराणसी और चंदौली लोकसभा की जो शिवपुर विधानसभा की जो सीट है वह ट्रेड फैसिलिटीज सेंटर और अजगरा विधानसभा के लिए पुलिस लाईन से और वाराणसी के पांचों विधानसभा की बात की जाए तो वाराणसी उत्तरी सांस्कृतिक संकुल से, वाराणसी दक्षिणी कटिंग मेमोरियल से, वाराणसी कैन्ट क्रिश्चियन स्कूल से, सेवापुरी विधानसभा यूपी कॉलेज से और रोहनिया विधानसभा जगतपुर इंटर कॉलेज से पोलिंग पार्टी रवाना होंगी. हमारी सारी तैयारी पूरी हो गई है.

सभी काउंटर अलग-अलग स्पेसिफाई किए हुए हैं. लोग बिना किसी से पूछे अपना अटेंडेंस लगा सकते हैं, वह अपने समान को चेक कर सकते हैं. अपनी बस में बैठ सकते हैं. जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने कहा कि सभी के लिए गाड़ियों का इंतजाम किया गया है. पोलिंग पार्टियों के लिए बसों की और सेक्टर मजिस्ट्रेट के लिए छोटी गाड़ियां की व्यवस्था की गई है. मतदान स्थल पर सफाई के साथ-साथ महिला व पुरुष के लिए अलग शौचालय की व्यवस्था, पानी की व्यवस्था, बिजली, पंखे और कुर्सियों की व्यवस्था की गई है. कई जगह कूलर की व्यवस्था की जा रही है. ताकि इस भीषण गर्मी में जहां तापमान 40 से 45 डिग्री है.

जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि 145 ऐसे पोलिंग स्टेशन हैं जिसे  मॉडल पोलिंग बूथ के लिए लिया है. वहां वोटर की फैसिलिटी इसके लिए बहुत सारे काम करेंगे. सभी विधानसभा में एक पिंक बूथ यानी सखी बूथ बनाने का निर्णय लिया है. जिसमें सभी पोलिंग पार्टी और सिक्योरिटी फोर्सेस भी महिला होंगी.

जिलाधिकारी ने बताया कि जो क्रिटिकल बूथ हैं. जो हमारे कास्ट और क्रिमिनल इश्यूज हैं. जिसकी वजह से तनाव है. भारी संख्या में हमने माइक्रो ऑब्जर्वर भी लगाए हैं. वीडियो कैमरा लगाए हैं. सीसीटीवी कैमरा लगाए हैं. दो सौ ढाई सौ जगह पर वाराणसी वेबकास्टिंग हो रही है. हर व्यक्ति पर नजर रहेगी. हर पोलिंग ऑफिसर पर नजर होगी कि कौन व्यक्ति क्या कर रहा है, और कैसे कर रहा है. ताकि पीसफुल इलेक्शन कराया जा सके.

जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि हर पोलिंग बूथ पर मानक के अनुसार फोर्स है. जितने भी क्रिटिकल बूथ हैं, वहां 4 या 4 से ज्यादा पैरा मिलिट्री फोर्स है. बाकी सभी जगह  फोर्सेस है. उसके अलावा हमारी मोबाइल है सेक्टर मोबाइल है. थाना मोबाइल है. क्यूआरटी मोबाइल है. हर मोबाइल फोर्सेस 5 मिनट में कवर होगा.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।