आप यहां हैं : होम» राज्य

केदारनाथ जा रहे हैं तो घर बैठे बुक करा लें हैली सर्विस का टिकट

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: May 30 2019 12:58PM
kedarnath_201953012582.jpg

रुद्रप्रयाग. केदारनाथ यात्रा पर देश-विदेश से आने वाले तीर्थयात्रियों के लिए खुशखबरी है. जहां केदारयात्रियों को घर बैठे ही हैली सर्विस के लिए टिकट मिल सकेगा. हैली सेवा टिकट के लिए भटकना नहीं पड़ेगा. एनआईसी की ओर से विकसित वेब पोर्टल जीएमवीएन के माध्यम से घर बैठे यात्री हैरिटेज व कैरस्टल हैली सर्विस के लिए अपने टिकट जीएमवीएन की साइट से बुक कर सकते हैं. जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि हैरिटेज और कैरस्टल कंपनियों के टिकट की सौ प्रतिशत बुकिंग जीएमवीएन की साइट से की जा रही है, जिसमें से 70 प्रतिशत ऑनलाइन जीएमवीएन की साइट व 30 प्रतिशत टिकटों की बुकिंग जीएमवीएन गुप्तकाशी और फाटा से किए जा रहे हैं. अब देश विदेश में बैठे यात्री कहीं से भी अपने टिकट जीएमवीएन की साइट से बुक कर सकते हैं. दोनों ही कंपनियां अपनी सेवाएं देंगी.

हैरिटेज व कैरस्टल कम्पनी के दोनों हेलीपैडों में नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं. हैरिटेज के लिए एबीडीओ अगस्त्यमुनि व कैरस्टल के लिए एई लोनिवि को नियुक्त किया गया है. वर्तमान में जीएमवीएन द्वारा बुक किए जा रहे टिकटों में यात्रियों के टिकट में क्यू आर कोड रहता है, जिसे हेली कम्पनियों द्वारा कोड स्कैन होने के पश्चात ही टिकट जारी किये जाते हैं. इन दोनों नोडल अधिकारी की ड्यूटी है कि वे टिकटों का जांच परीक्षण करने के बावजूद ही यात्री को हेली से यात्रा करने दें. सशंकित टिकट पाये जाने पर तुरंत कार्रवाई करें. इससे टिकटों को लेकर आ रही शिकायतों का समाधान होगा और ऐसे व्यक्ति की पहचान होने पर तुरंत अरेस्ट कर कार्रवाई की जाएगी.

बैठक में जिलाधिकारी ने बताया कि समस्त हेलीपैड में लोकल इन्टरनेट के माध्यम से सीसीटीवी कैमरा से जोड़ा जायेगा, जिसे प्रशासन द्वारा नियमित मानिटर किया जायेगा. सीसीटीवी कैमरे से हेली कम्पनियों की गतिविधियों पर नजर रहेगी. हेली सर्विस के लिए जिला साहसिक खेल अधिकारी सुशील नौटियाल को नोडल हेली बनाया गया है, इसके साथ ही समस्त हेलीपैडों में हेलीपैड इंचार्ज की नियुक्ति की गई है.

साथ ही नोडल हेली को इमरजेन्सी को रोटेशन के आधार पर हेली सर्विस की सेवायें लेने, हेली संचालकों का एक ग्रुप बनाकर संचालित करने, पहले दिन की आनलाइन बुकिंग का डाटा लेने आदि के निर्देश दिए. ज्ञात हो कि अन्य हेली सर्विसों द्वारा दस प्रतिशत टिकट प्रशासन को दिए जा रहे हैं.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।