आप यहां हैं : होम» राज्य

अंजलि शाह बनीं उत्तराखंड की पहली महिला ट्रेन चालक

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Jun 2 2019 6:53PM
Anjali-2_201962185318.jpg

देहरादून. पौड़ी जिला के रिखणीखाल विकास खण्ड के बामसू गांव की रहने वाली अंजलि शाह उत्तराखंड की पहली महिला ट्रेन चालक बनी हैं. अंजलि ने अपने बचपन का सपना साकार कर उत्तराखंड की पहली महिला ट्रेन चालाक बनने का सपना पूरा कर लिया है.

साधारण परिवार की अंजलि ने बचपन में ही ठान लिया था कि वह रेल चलाने वाली ड्राइवर बनेगी. बस फिर क्या था उसी दिशा में वह मेहनत करने लगीं और आखिर में  उसे अपने सपनों का मुकाम हासिल हुआ. आज अंजली ट्रेन ड्राइवर लोको पायलट बन चुकी हैं. वह वर्तमान में असिस्टेंट लोको पायलट ट्रेनिंग पर हैं. अभी वह ट्रेन के मुख्य चालक की मदद से ट्रेन चला रही हैं.

23 वर्षीय अंजलि शाह ट्रेनिंग के दौरान दो ट्रेन ट्रिप पूरी कर चुकी हैं. वही गंगा पर्यावरण सुरक्षा समिति द्वारा उत्तराखण्ड की प्रथम लोको पायलट अंजलि शाह को सम्मानित किया गया. विषम परिस्थितियों एवं सरकारी शिक्षण संस्थान में अध्ययन करने के बाद अंजलि शाह का उत्तराखण्ड के प्रथम लोको पायलट के रूप में चयन हुआ तथा वर्तमान मे वह हरिद्वार से बाड़मेर राजस्थान तक ट्रेन लोको पायलट के रूप मे संचालित करती हैं.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।