आप यहां हैं : होम» राज्य

शोक संवेदना व्यक्त करने दरवेश के घर पहुंचे अखिलेश

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Jun 13 2019 4:38PM
darvesh-eta_201961316380.png

लखनऊ. यूपी बार कांउसिल की पहली महिला अध्यक्ष दरवेश यादव का आज उनके पैतृक निवास एटा के चांदपुर गांव में अंतिम संस्कार कर दिया गया. इस मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मृतका के पैतृक गांव पहुंचकर अपनी संवेदनाएं प्रकट कीं. इस दौरान उन्होंने परिजनों के साथ बातचीत कर पूरी घटना की जानकारी ली, और सरकार से परिजनों को 50 लाख मुआवजा देने की मांग की. इस दौरान दरवेश के परिजनों ने मामले की जांच सीबीआई से कराए जाने की मांग की है.

कल बुधवार को यूपी की पहली महिला बार काउंसिल अध्यक्ष दरवेश यादव की उनके स्वागत समारोह के दौरान गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. जिसके बाद हमलावर ने खुद को भी गोली मार ली थी. जिसे गंभीर हालत में दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहीं मामले में पुलिस ने मृतका के भांजे की तहरीर पर तीन नामजद आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

यूपी बार काउंसिल की महिला अध्यक्ष दरवेश यादव की आगरा के कचहरी परिसर में कल उनके साथी अधिवक्ता मनीष शर्मा द्वारा गोली मारकर हत्या किये जाने के बाद आज उनके मलावन थाना स्थित उनके पैतृक गांव चांदपुर में उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया. अंतिम संस्कार के दौरान लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा और अश्रुपूरित नेत्रों से स्थानीय ग्रामीणों व लोगों ने अपनी लाडली को अंतिम विदाई दी.

अधिवक्ताओं और लोगों की मानें तो बार एसोसिएशन की अध्यक्ष दरवेश यादव काफी मृदभाषी और सरल स्वभाव की थीं और हमेशा लोगों के साथ उनके सुख दुख में खड़ी रहती थीं. यही वजह थी कि उनके अंतिम संस्कार के दौरान लोगों का तांता लगा रहा. दरवेश यादव के अंतिम संस्कार के दौरान प्रदेश के कानून मंत्री ब्रजेश पाठक भी उनके पैतृक गांव पहुंचे और उनकी अंतिम यात्रा में शामिल होकर  उन्हें श्रद्धांजलि दी. ब्रजेश पाठक ने मीडिया से रुबरु होते हुए कहा कि पूरे प्रकरण की जांच हो रही है और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी. दरवेश की हत्या को उन्होंने अपूर्णनीय क्षति बताया और कहा कि दरवेश यादव वकीलों के लिए संघर्ष करने वाली नेता थीं. अल्प समय में ही उनका जाना उ.प्र. और अधिवक्ता समाज के लिए अपूर्णनीय क्षति है. उन्होंने कहा कि भविष्य में ऐसी घटनायें न हो इसके लिए सरकार कड़े कदम उठाएगी.

उन्होंने कहा कि सरकार घटना की जांच कराएगी और कड़ी से कड़ी सजा का प्रावधान करेगी. उन्होंने कहा कि भविष्य में कोर्ट परिसरों की सुरक्षा पुख्ता हो इसका भी इंतजाम करेगी.

कल आगरा में उनकी हत्या के बाद लोग दुख में डूबे नजर आये. बार काउंसिल की अध्यक्ष चुने जाने के बाद कल दोपहर आगरा में साथी अधिवक्ता द्वारा स्वागत समारोह के दौरान उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश यादव जनपद एटा के शिवपुरी में रहती थी और वर्ष 2004 से आगरा में प्रैक्टिस कर रही थीं. वहीं दो दिन पूर्व बार काउंसिल की पहली महिला अध्यक्ष चुने जाने के बाद जहॉं उनके गृह जनपद एटा में लोगों में भारी उत्साह देखा गया था वही उनकी आज असामयिक हत्या की सूचना के बाद लोग सन्न रह गये. उनकी हत्या के विरोध में आज जिले के सभी अधिवक्ता आज न्यायिक कार्य से विरत रहे.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।