आप यहां हैं : होम» राज्य

काशीपुर के सुरजीत ने फहराया माउंट एवरेस्ट पर तिरंगा

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Jun 14 2019 4:44PM
surjeet_singh_rawat_201961416448.jpg

काशीपुर. विश्व की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट पर जाने के सपने बहुत से लोग देखते हैं. कुछ लोग कई बार मेहनत भी करते हैं, लेकिन उनमें से कुछ ही ऐसे जांबाज नौजवान होते हैं जो शिखर पर पहुंचकर अपने देश का तिरंगा लहरा पाने में सफल हो पाते हैं. माउंट एवरेस्ट पर काशीपुर के सुरजीत सिंह रावत ने अपनी 11 सदस्यीय टीम के साथ तिरंगा लहराने में सफलता हासिल की है. सुरजीत की कामयाबी से उनके परिजनों में भी खुशी की लहर बनी हुई है.

जनपद उधमसिंहनगर के काशीपुर निवासी सुरजीत सिंह ने विश्व की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट पर तिरंगा लहराकर देश के साथ साथ काशीपुर का नाम रोशन किया है. सुरजीत सिंह ने 21 मई की सुबह एवरेस्ट पर तिरंगा फहराने में सहलाता हासिल की है. बता दें कि कुंडेश्वरी चौकी क्षेत्र के आदर्शनगर फेज 2 निवासी सुरजीत सिंह गृह मंत्रालय दिल्ली में इंस्पेक्टर के पद पर कार्यरत हैं. सुरजीत ने 2011 में पर्वतारोहण के क्षेत्र में रुचि रखते हुए इससे जुड़े थे. जिसके बाद सुरजीत ने पर्वतारोहण का सिलसिला शुरू कर दिया और उन्होंने जम्मू कश्मीर और हिमालय जैसी चोटियों पर चढ़ाई कर अपनी तैयारी शुरू की. जिसके बाद सुरजीत अपनी 11 सदस्यीय टीम के साथ दिल्ली से अप्रैल माह के पहले सप्ताह में माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई के लिए रवाना हो गए.

सुरजीत ने 21 मई को चोटी पर पहुंचकर भारत का तिरंगा फहराने में सफलता हासिल कर ली. सुरजीत माउंट एवरेस्ट पर तिरंगा फहराने के बाद सोमवार रात को अपने घर काशीपुर पहुंचे. सुरजीत ने बताया कि माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई के दौरान उन्हें काफी सावधानियां रखनी पड़ी. उन्होंने बताया कि कुछ दिन पूर्व एक विदेशी दल के लापता होने से टीम के सदस्य काफी डर गए थे, लेकिन सबने हिम्मत नहीं हारी. जिसका नतीजा है कि टीम के सभी सदस्य सकुशल घर पहुँचने में सफल हुए.

वहीं सुरजीत का परिवार इस सफलता से काफी खुश है. सुरजीत के पिता वीरेंद्र सिंह रावत ने बताया कि जब टीवी और अखबार में विदेशी पर्वतारोहियों के लापता होने की खबर पढ़ी थी तो उन्हें भी काफी डर लगना शुरू हो गया था, लेकिन जब सुरजीत माउंट एवरेस्ट पर तिरंगा फहरा कर घर वापस लौटा तो उनके साथ सभी परिवार वालों में खुशी की लहर बन गई थी. उन्होंने बताया कि उन्हें अपने बेटे की इस कामयाबी पर नाज है.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।