आप यहां हैं : होम» अपराध

दुष्कर्म मामले में बसपा सांसद अतुल राय ने किया समर्पण

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Jun 22 2019 6:47PM
atul_rai_2019622184742.jpg

वाराणसी. दुष्कर्म के मामले में डेढ़ महीने से ज्यादा समय से वांछित घोसी के बसपा सांसद अतुल राय ने शनिवार को वाराणसी की अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया. अदालत ने 14 दिन की न्यायिक अभिरक्षा में अतुल राय को जिला जेल भेज दिया है. अतुल राय के समर्पण की भनक लगने पर कचहरी परिसर में लंका पुलिस ने घेराबंदी की लेकिन वह चकमा देने में कामयाब रहे. अतुल के समर्पण के दौरान दीवानी कचहरी परिसर में उनके समर्थकों की भीड़ उमड़ी हुई थी.

बलिया जिले की रहने वाली यूपी कॉलेज की पूर्व छात्रा बीती एक मई को लंका थाने में अतुल के खिलाफ दुष्कर्म सहित अन्य आरोपों में मुकदमा दर्ज कराई थी. गिरफ्तारी से बचने और अरेस्ट स्टे के लिए अतुल हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट तक गए लेकिन उन्हें राहत नहीं मिली. इस बीच पुलिस का दबाव बढ़ता देख अतुल राय ने बीते दिनों अदालत में समर्पण की अर्जी दी थी लेकिन पेश नहीं हुए थे. पुलिस के आवेदन पर अदालत ने अतुल को फरार घोषित करते हुए उनके खिलाफ कुर्की की उद्घोषणा की थी. पुलिस अब अतुल की संपत्तियों की कुर्की कराने की कानूनी प्रक्रिया में लगी हुई थी.

वाराणसी कोर्ट में सरेंडर करने पहुंचे घोसी से बसपा सांसद अतुल राय ने मीडिया से कहा कि कानून पर भरोसा है, न्याय होगा. अतुल राय ने आरोप लगाते हुए कहा कि ऐसे मामले 4 लोगों पर है जिसमें मेरे अलावा मंत्री जस्टिस रंजन गोगोई, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना पर है, लेकिन विपक्ष के नेता पर 12 घंटे के अंदर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी जाती है. सीधे वारंट जारी करके मेरे पीछे पड़ जाते हैं. 6 साल पुराने मामले में एक ऐसी युवती की बात मानी जाती है जिसने 2 अन्य लोगों पर ऐसे आरोप लगाए हैं. यदि मुख्यमंत्री सुशासन का वादा करते हैं तो मेरे ऊपर भी वैसी ही कार्रवाई होनी चाहिए जैसी उनके मंत्रियों के साथ होती है.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।