आप यहां हैं : होम» राज्य

जमघट पर लखनऊ के आसमान में छा गई पतंगें

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Nov 8 2018 5:32PM
jamghat_2018118173226.JPG

लखनऊ. दीवाली के बाद लखनऊ का आसमान अलग-अलग रंगों और डिजाइन की पतंगों से सजा नजर आया. पारम्परिक जमघट उत्सव के मौके पर लोगों ने पतंग उड़ाई. दीवाली के अगले दिन पतंगबाजी का सिलसिला सुबह सूरज उगने के साथ शुरू हो जाता है और शाम सूरज ढलने के बाद ही बंद होता है.

शौक के तौर पर शुरू हुए इस पर्व को लखनऊ के नवाबों ने रफ्तार दी और अब यह एक परंपरा बन गई है. यह एक अनोखा पर्व है, जो लखनऊ की गंगा-जमुनी तहजीब को दर्शाता है. इस उत्सव में सभी धर्म और समुदाय के लोग भाग लेते हैं और पतंग उड़ाते हैं. लखनऊ के सभी उत्सवों में जमघट को सबसे बड़े त्यौहार के रूप में जाना जाता है.

पतंगबाजों के शौक में कमी देखने को नहीं मिल रही है. पतंगबाजी का शौक तो काफी महंगा होता दिखाई दे रहा है, लेकिन लोगों के अंदर अभी भी पतंगबाजी का शौक जिन्दा है. वैसे तो छोटी दीपावली पर  पूजा के बाद से ही पतंगबाजी शुरू हो जाती है. रात को आसमान पर सफेद पतंगें उड़ान भरने लग जाती हैं. छतों पर रंग-बिरंगी पतंगें, मांझा और सद्दी से भरी चरखियां पतंगबाजों के हाथों में सज जाती हैं.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।