आप यहां हैं : होम» राज्य

बगावत का झंडा उठाने वाले साक्षी महाराज ने लिया यू टर्न

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Mar 14 2019 11:47AM
sakshi maharaj_2019314114729.jpg

उन्नाव. हमेशा अपने बयानों के लिए चर्चा में रहने वाले बीजेपी सांसद साक्षी महाराज एक बार फिर चर्चा में आ गए हैं. इस बार साक्षी अपनी ही पार्टी के खिलाफ बगावती सुर बुलंद करने की वजह से चर्चा में हैं. साक्षी महाराज का एक पत्र सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है, जिसमें उन्होंने टिकट न मिलने पर पार्टी को अंजाम भुगतने की चेतावनी दी है.

साक्षी महाराज ने इस पत्र पर अपनी सफाई देते हुए कहा कि 2019 के चुनाव को लेकर पार्टी गंभीर है. केन्द्रीय और प्रदेश संगठन ने सभी सांसदों से प्रोफार्मा भेजकर उनकी सीट के बारे में विवरण मांगा था. इस प्रोफॉर्मा में कॉलम सीमित थे. तो अलग से एक पत्र लगाकर मेरे आने से पहले क्या स्थिति थी, वर्तमान स्थिति क्या है, को स्पष्ट किया था.

उन्होंने कहा कि मुझसे भी पूछा गया. मैं पार्टी का एक कर्मठ कार्यकर्ता हूँ. पार्टी ने सभी सांसदों से सलाह मांगी थी, मुझसे भी मांगी थी. मैंने बिना मांगे सलाह नहीं दी. पार्टी से नाराजगी न थी न है न रहेगी. पार्टी ने मुझे 5 बार सांसद बनाया है, पार्टी का मैं बहुत अहसानमंद हूँ. टिकट न मिलने की बात पर साक्षी महाराज ने कहा अगर तगर की मैं बात नहीं करता, टिकट मुझे ही मिलेगी. मुझे टिकट नहीं मिलती तो जिसे मिलेगी उसका प्रचार करेंगे.

साक्षी महाराज ने अपने पत्र पर सफाई दी और कहा कि मेरे आने से पहले तीन चुनाव हुए, कौन लड़ा और तीनों चुनाव पार्टी हारी. 15 साल तक पार्टी का परचम यहां नहीं लहराया जा सका. मैं आया तब पार्टी जीती. इस 10 लाख से ज्यादा ओबीसी मतदाता हैं. इसे नकारा नहीं जा सकता. साक्षी महाराज ने कहा कि टिकट को लेकर कोई साजिश नहीं बल्कि साजिश उस पत्र को लेकर है, जिसे वायरल किया जा रहा है.

मीडिया को दोषी ठहराते हुए साक्षी महाराज ने कहा कि कुछ मीडिया के लोग मेरी इमेज खराब किये हुए हैं, वह पार्टी की इमेज खराब कर रहे हैं. कुछ मीडिया वाले बिके हुए हैं.

साक्षी महाराज ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि यह सर्वविदित है कि कांग्रेस का हाथ आतंकियों के साथ है, क्योंकि समय-समय पर कांग्रेस कभी दिग्विजय, कभी राहुल और कभी कमलनाथ कभी कोई कभी कोई, आतंकवादियों की बात करते हैं. इतनी बड़ी-बड़ी घटनाएँ 10 साल में घटती रहती हैं. कांग्रेस ने आज तक आतंकियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की. मसूद अज़हर को जी कहने के बाद राहुल को राजनीति करने का अधिकार नहीं है.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।