आप यहां हैं : होम» राज्य

लगातार हो रही बर्फबारी से बढ़ी जनता की दुश्वारियां

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Feb 10 2019 8:12PM
rudrapryag_201921020122.jpg

रुद्रप्रयाग. केदारनाथ में बर्फबारी से हालात बिगड़ गए हैं. एक सप्ताह से विद्युत, पेयजल, संचार आदि की आपूर्ति ठप हो गई है. केदारनाथ में बर्फ को पिघलाकर पानी पिया जा रहा है. प्रसिद्ध पर्यटक स्थल चोपता में भारी हिमपात हुआ है. दो बजे के बाद चोपता जाने पर रोक लगा दी गई है.

रुद्रप्रयाग जनपद में लगातार हो रही बर्फबारी आफत बनती जा रही है. बारिश के कारण ग्रामीण क्षेत्र की जनता को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. रुद्रप्रयाग जनपद में 30 से अधिक गांवों पर बर्फबारी के कारण संकट पैदा हो गया है. लगातार हो रही बर्फबारी मुसीबतें बढ़ाती जा रही है. रुद्रप्रयाग में पिछले एक सप्ताह से लगातार बारिश और बर्फबारी जारी है. बर्फबारी से आम जनता की समस्याएं बढ़ती जा रही हैं.

गांवों में कई फीट तक बर्फ जमी हुई है. जिस कारण ग्रामीणों को ठंड के साथ ही अन्य कई परेशानियों से होकर गुजरना पड़ रहा है. हालांकि ग्रामीण स्वयं भी बर्फबारी का लुत्फ ले रहे हैं. केदारनाथ धाम की बात करें तो केदारनाथ धाम का पिछले एक सप्ताह से देश-दुनिया से संपर्क कटा हुआ है. केदारनाथ आने-जाने वाले सभी पैदल रास्ते बर्फबारी के कारण बंद हैं. केदारनाथ में दस फीट से अधिक बर्फ पड़ चुकी है. केदारनाथ धाम बर्फबारी के बाद सिर्फ सफेद नजर आ रहा है. बाबा केदार का मंदिर भी आधा हिस्से तक बर्फ से ढक चुका है.

बर्फबारी के कारण केदारनाथ में विद्युत, पेयजल और संचार लाइनों को भारी क्षति पहुंची है. केदारनाथ में रह रहे मजदूर बर्फ को पिघलाकर पानी का इंतजाम कर रहे हैं. केदारनाथ में पिछले एक सप्ताह से विद्युत और संचार व्यवस्था ठप पड़ी हुई है. केदारनाथ में चल रहे पुनर्निर्माण कार्य भी बाधित हो गये हैं.

मिनी स्वीटजरलैंड के नाम से जाने जाना वाला पर्यटक स्थल चोपता भी बर्फ से ढक चुका है. चोपता से पांच किमी पहले ही मोटरमार्ग बंद हो गया है. जिस कारण यहां पर्यटक पैदल ही पहुंच रहे हैं. चोपता में बर्फबारी इतनी हुई है कि प्रशासन ने दोपहर दो बजे बाद चोपता आने-जाने पर रोक लगा दी है.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।