आप यहां हैं : होम» राज्य

लोक बाधा डालने के इल्जाम में काट दिये मृतकों के चालान

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Jan 12 2019 4:44PM
Nagar-Nigam-Kotdwar_2019112164437.png

कोटद्वार. नगर निगम कोटद्वार ने 133 सीआरपीसी लोक बाधा डालने के मामले में 72 लोगों के नाम से एक लिस्ट जारी की है. जिसमें 2 लोग ऐसे भी हैं जो लगभग दो साल पहले ही मर चुके हैं. जिनमें एक कोटद्वार के जाने-माने वरिष्ठ पत्रकार स्वर्गीय कमल जोशी का नाम भी शामिल है. कमल जोशी की कोटद्वार ही नहीं बल्कि पूरे उत्तराखंड में अपनी एक पहचान थी. उनके नाम पर भी लोक बाधा डालने का चालान काटा गया है. दूसरा चालान आनंद प्रकाश भाटिया का काटा गया है. उनकी भी 2 साल पहले मौत हो चुकी है.

यह प्रशासन की पहली लापरवाही नहीं है. इससे पहले भी एक मामला कोटद्वार में हो चुका है. तब एक शहीद को समन जारी कर दिया  गया था. जिसको लेकर कोटद्वार में काफी बवाल मचा था. इस तरह का कार्य करने से प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े होते हैं. बंद कमरों में बैठकर इस तरह की लिस्ट जारी की जाती है. जिसमें मृतकों को भी लोक बाधा डालने का दोषी मानते हुए उनके चालान जारी कर दिए जाते हैं.

निगम की ऐसी लापरवाही पर जब उपजिलाधिकारी कमलेश मेहता से बात की गई तो उन्होंने बताया कि जिसकी भी लापरवाही से ऐसा हुआ है इस पर जांच की जायेगी और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।