आप यहां हैं : होम» अपराध

20 लाख की चोरी में फंस गई शिकोहाबाद पुलिस

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Jun 12 2019 11:44AM
shikohabad police_2019612114451.jpg

फिरोजाबाद. जिले की शिकोहाबाद पुलिस पर बड़े ही गंभीर किस्म के आरोप लगे हैं. यह आरोप अगर साबित हो जाते हैं तो उत्तर प्रदेश पुलिस के दामन पर एक और बदनुमा दाग लग जाएगा. दस महीने पहले शिकोहाबाद में एक व्यापारी के यहाँ से 20 लाख रुपये की चोरी हुई थी. व्यापारी ने इस सम्बन्ध में मुकदमा दर्ज कराया था. जांच के बाद तत्कालीन एसओ ऊदल सिंह ने दो बार मे दो लाख रुपये बरामदगी दिखाई थी, लेकिन व्यापारी का आरोप है कि पुलिस ने पहली बार मे ही पूरे 20 लाख रुपये बरामद कर लिए थे. व्यापारी का आरोप है कि बाकी के 18 लाख रुपये एसओ ऊदल सिंह व उनके अन्य साथी मिलकर डकार गए. एसएसपी के आदेश पर मुकदमा दर्ज हुआ था. व्यापारी के प्रार्थना पत्र पर सीजेएम फ़िरोज़ाबाद ने तत्कालीन एसओ ऊदल सिंह व अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच के आदेश दिए हैं.

फिरोजाबाद के थाना शिकोहाबाद क्षेत्र में चोरी के मामले में पुलिस द्वारा बरामदगी कम दिखाने को लेकर पीड़ित व्यापारी ने न्यायालय की शरण ली. न्यायालय द्वारा तत्कालीन प्रभारी निरीक्षक समेत चार लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कानूनी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं.

मामला लगभग दस माह पुराना है. नवीन अग्रवाल के यहां 20 लाख रुपये की चोरी हुई थी. जिसमें पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लगभग दो लाख रुपये बरामद कर आरोपित को जेल भेजा था. पीड़ित का आरोप है कि पुलिस ने पूरी रकम बरामद कर मात्र दो लाख रुपये ही दिखाए. बाकी रकम को तत्कालीन प्रभारी निरीक्षक और उनके सहयोगी हड़प कर गए. जब इस संबंध में पीड़ित ने तत्कालीन प्रभारी निरीक्षक से कहा तो वह टालमटोल करते रहे. उसने आईजी, डीआईजी से भी इस पूरे मामले की शिकायत की.

न्याय न मिलने पर पीड़ित न्यायालय की शरण में गया. न्यायालय ने पीड़ित के प्रार्थना पत्र पर आरोपित तत्कालीन प्रभारी निरीक्षक समेत चार पुलिस कर्मियों के खिलाफ सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई के निर्देश दिये हैं. इस संबंध में थाना प्रभारी शिव कुमार शर्मा का कहना है कि न्यायालय से प्रार्थना पत्र मिला है. प्रार्थना पत्र की जांच कर उचित कार्रवाई की जायेगी.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।