आप यहां हैं : होम» अपराध

फर्ज़ी मार्क्सशीट बनाने वाले गिरोह का भण्डाफोड़

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Apr 18 2019 1:29PM
lko police_2019418132935.jpg

लखनऊ. राजधानी में एक ऐसे गिरोह का भंडाफोड़ हुआ है जो फ़र्ज़ी मार्कशीट बना कर करोड़ों रुपए ऐंठता था. एक सेमेस्टर की मार्कशीट बनाने का डेढ़ लाख वसूलता था. लखनऊ, दिल्ली विश्वविद्यालय समेत कई अन्य यूनिवर्सिटी की सैकड़ों फ़र्ज़ी मार्कशीट बना कर इस गोरखधंधे को अंजाम दिया जा रहा था. इस पूरे फर्जीवाड़े में एक यूनिवर्सिटी का बर्खास्त बाबू स्कूल के प्रिंसपल सहित 6 लोगों को हसनगंज पुलिस और टीजी स्कॉट टीम ने धर दबोचा है.

इस पूरे फर्जीवाड़े का मास्टर माइंड एक यूनिवर्सिटी का बर्खास्त बाबू था, जो बड़े ही हाईटेक तरीके से इस पूरे फर्जीवाड़े को अंजाम दे रहा था. लगभग 250 से अधिक फर्जी मार्कशीट बना कर कई करोड़ रुपए इस गिरोह ने डकार लिये थे. यह गिरोह यूनिवर्सिटी के कई लोगों की सांठगांठ से अपना फर्जीवाड़े का धंधा चला रहा था. अब पुलिस की रडार पर ऐसे लोग हैं जो सरकारी पद पर रहते हुए इस पूरे फर्जीवाड़े में सहयोग कर रहे थे. इस पूरे खुलासे में टीजी स्कॉट टीम की महत्वपूर्ण भूमिका सामने आई है जिसने पूरे मामले का भंडाफोड़ किया है.

इस पूरे मामले में पुलिस ने छापेमारी के दौरान खदरा स्थित मकान से कई फ़र्ज़ी मार्कशीट, कंट्रोलर ऑफ़ इग्जामनेशन का सादा लिफाफा,  विश्वविद्यालय के छाया मोनोग्राम, परीक्षा नियंत्रक का लेटर पैड सहित कई चीज़ अभियुक्तों के पास से बरामद की हैं.

एसपी ट्रांसगोमती अमित कुमार ने बताया कि कल हसनगंज में एक मुकदमा दर्ज किया गया था. जिसमें फर्जी मार्कशीट बना कर ठगने का मामला सामने आया था. हसनगंज पुलिस औऱ ट्रांसगोमती की स्कॉट टीम को लगाया गया, जिससे पूरे मामले का खुलासा हो सका.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।