आप यहां हैं : होम» देश

अनंत यात्रा पर गए अटल

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Aug 17 2018 9:30PM
atal_2_2018817213021.jpg

नई दिल्ली. अटल अनंत यात्रा पर निकल चुके हैं. कई साल अपने घर तक सीमित रहे अटल जी आज अपने आख़री सफर से पहले बीजेपी मुख्यालय भी गए. बीजेपी मुख्यालय से जब वह राष्ट्रीय स्मारक स्थल के लिए निकले तो लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा. हज़ारों लोग अटल जी की अंतिम यात्रा के साक्षी बने. बीजेपी मुख्यालय में प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी, पूर्व उप प्रधानमन्त्री लाल कृष्ण आडवाणी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, उद्धव ठाकरे और अरविंद केजरीवाल भी मौजूद रहे.

अंतिम संस्कार से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, चंद्रबाबू नायडू, अखिलेश यादव, सेना प्रमुख बिपिन रावत और आरएसएस चीफ मोहन भागवत ने भी अटल जी को श्रद्धांजलि दी.

पूर्व प्रधानमंत्री, भारत रत्न और बीजेपी के दिग्गज नेता अटल बिहारी वाजपेयी ने गुरुवार को शाम पांच बजकर पांच मिनट पर नई दिल्ली के एम्स में अंतिम सांस ली थी. आज शाम नई दिल्ली के राष्ट्रीय स्मृति स्थल पर राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया. अटल बिहारी वाजपेयी को उनकी बेटी नमिता भट्टाचार्य ने शाम पांच बजे मुखाग्नि दी. इस दौरान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, बीजेपी के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी समेत बड़ी हस्तियां मौजूद रहीं. सेना के तीनों अंगों के प्रमुखों ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को सलामी दी.

गुरुवार शाम से उनके पार्थिव शरीर को उनके आवास पर रखा गया था, जहां दिग्गज नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी. शुक्रवार सुबह नौ बजे उनके पार्थिव शरीर को भारतीय जनता पार्टी के मुख्यालय लाया गया, जहां पर आम लोगों समेत वीवीआईपी लोगों ने उनके अंतिम दर्शन किए.

अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियों को रविवार को हरिद्वार में हरकी पैड़ी पर विसर्जित किया जाएगा. 19 अगस्त को सरकार और संगठन के तमाम बड़े नेता उनकी अस्थियां लेकर हरिद्वार पहुंचेंगे. जानकारी के मुताबिक, कुछ बड़े नेता 18 अगस्त की रात को ही हरिद्वार पहुंच जाएंगे. केन्द्रीय संगठन की ओर से इस बारे में राज्य सरकार को अवगत करा दिया गया है. इसकी पुष्टि संगठन मंत्री नरेश बंसल ने की है. उनका कहना है कि पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी आ सकते हैं. प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के परिवार के समस्त कर्मकांड हरिद्वार में कराते आए हैं.

ओजस्वी वक्ता, प्रख्यात कवि, आम लोगों के हृदय सम्राट और भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई की अस्थियां 19 अगस्त को हरिद्वार पहुंचेंगी, जहां पूरे विधि विधान के साथ तीर्थ पुरोहित की मौजूदगी में हर की पौड़ी स्थित ब्रह्मकुंड में अटल बिहारी वाजपेई की अस्थियों को पूरी विधि विधान के साथ मां गंगा में विसर्जित किया जाएगा.

यमुना नदी के किनारे अटल जी का समाधि स्थल बनाया जाएगा. हालांकि यूपीए सरकार ने नदी के किनारे समाधि स्थल पर रोक लगा दी थी, लेकिन मोदी सरकार ने इस फैसले को पलटते हुए यमुना नदी के किनारे ही समाधि स्थल बनाने का फैसला किया है. अटल जी की अंतिम यात्रा को देखते हुए इसको लेकर दिल्ली में ट्रैफिक पुलिस ने एडवाइजरी जारी करते हुए दिल्ली की 25 सड़कों पर आम आवाजाही पर रोक लगाते हुए इन रास्तों का इस्तेमाल नहीं करने की सलाह दी थी.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।