आप यहां हैं : होम» राजनीति

मायावती पर टिप्पड़ी से बीजेपी और प्रधानमन्त्री को शर्मिंदा होना चाहिए : आज़म

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Jan 20 2019 6:42PM
Azam khan_201912018420.jpeg

फिरोजाबाद. समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता तथा पूर्व मंत्री आजम खां आज फिरोजाबाद में एक कार्यक्रम में शामिल होने आए तो उन्होंने मीडिया से कई मुद्दों पर खुलकर बात की. कोलकाता में राजनीतिक दलों के गठबंधन में मुसलमानों को प्रतिनिधित्व न दिया जाने पर भी प्रश्न चिन्ह लगा दिया. भारतीय जनता पार्टी की एक महिला विधायक द्वारा मायावती पर की गई टिप्पणी पर भी उन्होंने अपनी प्रतिक्रिया दी. इसके अलावा भी उन्होंने कई मुद्दों पर खुलकर बात की.

आज़म खां से कोलकाता में हुई महागठबंधन की रैली के सन्दर्भ में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हम गठबंधन का स्वागत करते हैं. हम लोग इस बात के पक्षधर हैं कि गठबंधन मजबूत रहे और देश में बदलाव लाये. देश की जो आर्थिक बर्बादी हुई है उससे देश उभरकर सामने आए, लेकिन कोलकाता में जिस प्रकार से महारैली हुई है उसमें जितना संदेश जाना चाहिए था, जिस तरह से जाना चाहिए था कि यह रैली सब को जोड़ने वाली है. कुछ लोगों को नहीं सारी जनता को 130 करोड़ जनता को नहीं तो कम से कम 50 करोड़ को संदेश जाना चाहिए था लेकिन वहां राजनीतिक दृष्टि से बहस तो बहुत हुई लेकिन देश को कहां ले जाया गया और कहां ले जाना चाहिए इस पर बात नहीं हुई. उन्होंने कहा कि जो देश की दूसरी आबादी बड़ी आबादी है, जिसे धार्मिक अल्पसंख्यक कहते हैं. उनका रिप्रेजेंटेशन मात्र इतना हुआ कि एक साहब कश्मीर से थे और एक साहब आसाम से थे. मैं उन दोनों के बारे में कोई टिप्पणी नहीं करूंगा. लेकिन बाकी के देश की दूसरी बड़ी आबादी का कोई प्रतिनिधि तो वहां नहीं था. इससे दूसरी बड़ी आबादी चिंतित है, मायूस है, कि बदलते हुए हालात में भी उनकी मौजूदगी नहीं है.

उत्तर प्रदेश बीजेपी की महिला विधायक ने मायावती के बारे में अभद्र टिप्पणी की है उस पर सवाल पूछा गया तो आजम खां ने कहा कि एक दलित नेता मायावती जी पर इतनी शर्मनाक टिप्पणी करने से पूरी भारतीय जनता पार्टी को शर्मिंदा होना चाहिए. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष तथा प्रधानमंत्री को उन्हें इसके लिए माफी मांगनी चाहिए. ऐसी बेहूदा बात कहने वाली महिला को यह संदेश देना चाहिए.

महागठबंधन की कोलकाता रैली में ईवीएम पर उठे सवाल पर उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि ईवीएम का जो असल सुप्रीम कार्ड का जो पर्ची निकलने वाला है अगर वह हो जाता है तो जिसे कल का आपोजीशन और आज की सत्ता कहते हैं. उसको फायदा होगा.

प्रधानमंत्री द्वारा गठबंधन को गलत बताये जाने पर आज़म खां ने कहा कि तीन तलाक उनकी नजर में सही है, और अपनी बीवी को ही छोड़ रखा है. समाजवादी पार्टी में दो फाड़ हो जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी एक ही है. अलग राजनीतिक पार्टी बनाने का हक सबको है. आपको भी है. और जहां तक मुलायम सिंह की बात है मैं उनसे एक माह पहले ही मिला था. मैं मुलायम सिंह के साथ हूं. एक शब्द आपको बता देता हूं कि आई लव मुलायम सिंह.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।