आप यहां हैं : होम» राज्य

बसंत पंचमी पर संगम पर उमड़ रहा है श्रद्धालुओं का हुजूम

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Feb 10 2019 1:45PM
Allahabad_2019210134524.jpg

इलाहाबाद. बसंत पंचमी के दिन संगम नगरी प्रयागराज में श्रद्धालुओं का हुजुम उमड़ पड़ा है. आज कुंभ का तीसरा और अंतिम शाही स्नान किया जा रहा है. संगम तट पर बसंत पंचमी के दिन स्नान, पूजा, पाठ, दान का विशेष महत्व होता है. 15 जनवरी से शुरू हुए कुंभ के महापर्व में अब तक करोड़ों श्रद्धालु आस्था की डुबकी लगा चुके हैं. अनुमान है कि इस बार बसंत पंचमी के दिन कुंभ में लगभग 2 करोड़ श्रद्धालु आस्था की डुबकी लगा सकते हैं.

बसंत पंचमी के मौके पर किया जा रहा स्नान अमृत स्नान के समान माना जाता है. मान्यता है कि बसंत पंचमी के दिन सरस्वती नदी में स्नान करने से व्यक्ति को मोक्ष की प्राप्ति होती है. साथ ही व्यक्ति को महापुण्य मिलता है. संगम की तरफ़ जाने वाला हर रास्ता श्रद्धालुओं की भीड़ से पटा पड़ा है.

देश के कोने-कोने से आने वाले श्रद्धालु ज्ञान और विद्या की देवी सरस्वती की अदृश्य धारा और गंगा-यमुना के जल में डुबकी लगाकर पुण्य लाभ प्राप्त कर रहे हैं. श्रद्धालु इस मौके पर मोक्षदायिनी गंगा और ज्ञान की देवी सरस्वती में स्नान कर कुशल मंगल की कामना कर रहे हैं. मेला परिसर में भीड़ को देखते हुए प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं.

ऋतुराज बसंत के आगमन और विद्या की देवी सरस्वती की उपासना का पर्व बसंत पंचमी आज देश भर में श्रद्धा और उल्लास के साथ मनाया जा रहा है. इस मौके पर प्रयागराज के संगम में सरस्वती की धारा की मान्यता की वजह से देश के कोने-कोने से स्नान करने के लिए आने वाले श्रद्धालुओं का तांता लगा हुआ है. श्रद्धालु त्रिवेणी के तट पर गंगा-यमुना और अदृश्य सरस्वती की धारा में डुबकी लगाकर विद्या की देवी सरस्वती की आराधना कर उनसे ज्ञान व सदबुद्धि की कामना कर रहे हैं.

कुम्भ मेले का तीसरा व अंतिम शाही स्नान भी शुरू हो गया है. पहला स्नान पंचायती महानिर्वाणी अखाड़ा ने किया. उसके बाद निरंजनी अखाड़ा स्नान के लिए आगे बढ़ा. श्रद्धालु इस मौके पर मोक्षदायिनी गंगा और ज्ञान की देवी सरस्वती से अपनी मनोकामनाये मांग रहे हैं. बसंत पंचमी पर युवा वर्ग सरस्वती की कृपा बनी रहने और गृहस्थ सदबुद्धि की कामना कर रहे हैं.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।