आप यहां हैं : होम» राज्य

महापुरुषों की जयन्ती पर छुट्टी को लेकर शुरू हुई सियासत

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Feb 18 2019 2:54PM
chhutti_2019218145443.jpg

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक बार फिर से महापुरुषों की जयंती पर होने वाले अवकाश को लेकर विचार कर रहे हैं. यूपी की भाजपा सरकार ने कुछ महापुरुषों की जयंती पर होने वाले अवकाश को रद्द या निर्बन्धित छुट्टी की श्रेणी में रख दिया था लेकिन वह एक बार फिर इस पर विचार कर रही है और इसकी शुरुआत संत रविदास की जयंती से हो गई है.

यूपी सरकार ने जारी किए गए आदेश में कहा है कि 19 फरवरी को संत रविदास की जयंती के अवसर पर सार्वजनिक अवकाश होगा. सरकार ने संत रविदास की जयंती पर सार्वजनिक अवकाश की घोषणा कर दी है. इस शासनादेश के जारी होने के बाद 19 फरवरी यानी मंगलवार को प्रदेश भर में सार्वजनिक अवकाश रहेगा. यूपी में योगी सरकार के आने के बाद संत रविदास समेत कई महापुरुषों की जयंती को सार्वजनिक अवकाश की सूची से हटाकर निर्बन्धित अवकाश की सूची में शामिल कर दिया गया.

यह सभी सार्वजनिक अवकाश पूर्व की अखिलेश सरकार के समय चल रहे थे लेकिन योगी सरकार आने के बाद इन्हें बंद कर दिया गया था. चर्चा है कि 2019 में होने वाले चुनाव की वजह से यूपी में सरकार ने लुभाने के लिए यह फैसला लिया है. योगी सरकार के इस फैसले पर सियासी पार्टियां सवाल खड़ा करने लगी हैं. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने यहां तक आरोप लगा दिया कि चुनाव आने वाला है, देखते हैं कि लोग क्या करते हैं. वहीं बहुजन समाज पार्टी के विधायक दल के नेता लालजी वर्मा ने कहा कि चुनाव के समय चुनाव जीतने के लिए यह लोग तरह-तरह के हथकंडे अपनाएंगे.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।