आप यहां हैं : होम» राज्य

बीजेपी कार्यकर्ताओं ने भासपा विधायक को अपमानित कर भगाया

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Jun 11 2019 1:27PM
dycm_keshav_morya_2019611132740.jpg

कुशीनगर. भासपा और भाजपा कार्यकर्ताओं में एक बार फिर से तनातनी सामने आई है. जहां बीजेपी कार्यकर्ताओं ने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद के स्वागत में पहुंचे भासपा विधायक रामानन्द बौद्ध को उल्टे पांव भगा दिया. आपको बता दें कि सोमवार को डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य हाटा विधायक पवन केडिया के भतीजे और फाजिलनगर विधायक गंगा सिंह कुशवाहा की पौत्री की शादी में शामिल होने पहुंचे थे.

डिप्टी सीएम का हेलीकॉप्टर कसया हवाई पट्टी पर अभी उतरा भी नहीं था कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने भासपा विधायक के खिलाफ नेताओं और तमाम अधिकारियों के सामने ही रामानंद बौद्ध वापस जाओ के नारे लगाए, भाजपा कार्यकर्ताओं के उग्र प्रदर्शन को देखकर भासपा विधायक रामानन्द बौद्ध को वापस जाना पड़ा.

कहते हैं कि जब तक सत्ता में हो तब तक सम्मान है, मान है लेकिन सत्ता से अलग होने के बाद क्या होता है यह आज यूपी के कुशीनगर जनपद में देखने को मिला. जब भासपा विधायक को भाजपा कार्यकर्ताओं ने उल्टे पांव भगा दिया.

योगी सरकार में सहयोगी दल रही भासपा यानि कि भारतीय समाज पार्टी जो आज कल भाजपा से अलग हो चुकी है, लेकिन अलग होने का कितना नुकसान होता है शायद आज भासपा विधायक रामानन्द बौद्ध को समझ आ गया होगा. मामला आज कुशीनगर पहुंचे यूपी के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या के स्वागत को लेकर जहाँ विधायक रामानंद बौद्ध को कभी अपने ही बीच रहे भाजपा कार्यकर्ताओं से ही बेइज्जती करवानी पड़ी.

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य हाटा विधायक पवन केडिया के भतीजे व फाजिलनगर विधायक गंगा सिंह कुशवाहा की पौत्री की शादी में शामिल होने पहुंचे थे, डिप्टी सीएम का हेलीकॉप्टर कसया हवाई पट्टी पर अभी उतरा भी नही था कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने भासपा विधायक की इज्जत ही उतार दी. बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं और तमाम अधिकारियों के सामने ही भाजपा के कार्यकर्ताओं और हिन्दू युवा वाहिनी के लोगों ने विधायक रामानंद बौद्ध के साथ नारेबाज़ी की. साथ ही वापस जाओ के नारे लगाए, नारे तब लगाए गए जब सभी नेता और विभागीय अधिकारियों भी डिप्टी सीएम के स्वागत में खड़े थे कि तभी भासपा विधायक रामकोला रामानंद बौद्ध भी पहुँच गए. बस फिर क्या था, स्वागत में खड़े अन्य भाजपा कार्यकर्ताओं ने अपना आपा खो दिया, जिस वजह से डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का स्वागत करने से पहले ही उनको उल्टे पाँव भागना पड़ा.

भाजपा  कार्यकर्ताओं ने जमकर विधायक रामानंद बौद्ध की जमकर बेइज्जती की. साथ ही रामानन्द बौद्ध के खिलाफ नारेबाजी करते हुए भाजपा कार्यकर्ताओं और हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने सारी हदों को पार करते हुए विधायक "रामानंद बौद्ध के कौन दवाई जूता चप्पल और पिटाई, की अपमानित शब्दों वाली नारेबाजी भी की और  उनकी तरफ उग्र होकर बढ़ने लगे. प्रशासन की सूझबूझ से एक बड़ी अनहोनी होते होते टल गई. अन्ततः रामानन्द बौद्ध विधायक को भाजपा कार्यकर्ताओं के उग्र प्रदर्शनकारी रूप देख कर वापस जाना पड़ा.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।