आप यहां हैं : होम» मनोरंजन

फिल्म केदारनाथ को लेकर विरोध की मुहिम शुरू

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Nov 4 2018 1:39PM
kedarnath_2018114133940.jpg

देहरादून. अब यह कोई पब्लिसिटी स्टंट है या सचमुच लेकिन-केदारनाथ आपदा पर बनी फिल्म का हर जगह विरोध शुरू हो गया है.  हालांकि फिल्म अभी रिलीज नहीं हुई है लेकिन फिल्म के टीजर को देखने के बाद लोगों में फिल्म निर्माताओं के खिलाफ काफी आक्रोश है.

लोगों का कहना है कि इस फिल्म में केदारनाथ की आपदा से कोई लेना देना नहीं है. जबकि साल 2013 में केदारनाथ में आपदा से पूरा क्षेत्र उजड़ गया. लोग तबाह हो गए. इस फिल्म का विरोध लोग इसलिए कर रहे हैं क्योंकि इसमें कई दृश्यों को लेकर लोगों में नाराजगी है. केदारनाथ अपने आप में ही हिन्दू धर्म में आस्था और विश्वास का एक बड़ा नाम है और ऐसे में फिल्म में ऐसे दृश्यों को दिखाया जाना लोगों की धार्मिक भावना पर चोट है.

केदारनाथ फिल्म के बारे में पूछे गए सवाल पर सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने खुद पत्रकारों से पूछ लिया क्या आपने फिल्म देखी है. सीएम रावत ने कहा कि कथाकार, कहानीकार और फिल्मकार भी हमारे बीच के लोग होते हैं. उनकी भी अपनी भावनाएं होती हैं. बिना फिल्म देखे हम उनके बारे में कोई राय नहीं बना सकते हैं. हालांकि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने यह साफ किया है कि बिना फिल्म देखे लोग अपनी धारणा फिल्म को लेकर गलत न बनाएं. फिल्म देखने के बाद ही यह साफ हो पाएगा फिल्म के निर्देशक क्या दिखाना चाहते हैं और उनकी मंशा फिल्म को लेकर कितनी साफ है. वह जनता में क्या संदेश देना चाहते हैं.

बीजेपी नेता अजेंद्र अजय ने फिल्म के प्रोमो और टीजर पर सवाल उठाए हैं. अजेंद्र अजय ने कहा कि साल 2013 की त्रासदी पर बनाई जा रही फिल्म को लेकर खासा उत्साह था, लेकिन वह अब आशंकाओं में तब्दील होता दिख रहा है. फिल्म के 39 सेकंड के टीजर और पोस्टर में केदारनाथ की तबाही और नायक-नायिका के बोल्ड सीन, नायक का नमाज अदा करना को हिंदू मान-मर्यादाओं और प्रतीकों के साथ खिलवाड़ माना गया है.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।