आप यहां हैं : होम» देश

रावण दहन के वक्त आयी मौत की ट्रेन

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Oct 20 2018 10:09AM
amritsar_2018102010949.jpg

अमृतसर. पंजाब के अमृतसर जिले में रावण दहन देख रहे लोगों पर अचानक मौत ने इस तरह से हमला बोला कि किसी को संभलने का मौका भी नहीं मिला. सैकड़ों की संख्या में लोग ट्रेन की पटरियों पर बैठकर रावण दहन देख रहे थे. पटाखों की आवाजों और लोगों के शोर के बीच यह पता ही नहीं चला कि पटरी पर कब ट्रेन आ गई. जान बचाने के लिए लोग तेज़ी से दूसरी पटरी की तरफ भागे लेकिन इसी बीच उस पटरी पर दूसरी ट्रेन आ गई और दोनों पटरियों पर लोगों का खून ही खून बिखर गया. अब तक 61 लोगों की मौत की पुष्टि की जा चुकी. है. 50 से अधिक घायलों की स्थिति गंभीर है.

बताया जाता है कि अमृतसर में धोबी घाट के पास जोड़ा फाटक के करीब रावण दहन हो रहा था. सैकड़ों की संख्या में लोग रेलवे लाईन पर खड़े हो कर रावण दहन देख रहे थे. बड़ी संख्या में लोग पटरियों पर बैठे भी थे. रावण में आग लगाई जा चुकी थी और तेज़ आवाज़ में पटाखे फूट रहे थे. लोगों का शोर भी ज्यादा ही था कि इसी दौरान अमृतसर से दिल्ली के लिए रवाना हुई हावड़ा एक्सप्रेस वहां पहुँच गई. शोर और उत्साह में लोगों को ट्रेन दिखाई ही नहीं दी. जब तक समझ में आता ट्रेन ने लोगों को रौंदना शुरू कर दिया था. ट्रेन देखकर लोग उठकर तेज़ी से दूसरी पटरी पर भागे लेकिन ठीक उसी वक्त जालंधर से अमृतसर को आ रही डीएमयू रेलगाड़ी भी पहुँच गई. दोनों ट्रेनों ने सैकड़ों लोगों को अपनी चपेट में ले लिया. इस हादसे में 60 लोगों की मौत और 40 लोगों के गंभीर रूप से घायल होने की पुष्टि रेलवे प्रशासन ने की है. रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने दुर्घटना के बाद घटनास्थल का दौरा किया. अस्पताल में डाक्टरों को उन्होंने बेहतर चिकित्सा व्यवस्था के निर्देश दिये. पंजाब के गवर्नर वी.पी.सिंह और पुलिस महानिदेशक सुरेश अरोड़ा ने दुर्घटनास्थल और अस्पतालों का दौरा कर घायलों का हाल लिया.

पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार ने शनिवार को राज्य शोक घोषित करते हुए सभी सरकारी दफ्तरों और स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया है. रावण दहन के वक्त हुए इस ह्रदयविदारक हादसे की जानकारी मिलते ही पंजाब सरकार के कई मंत्री दुर्घटनास्थल पर पहुंचे और राहत कार्यों में जुट गए. घायलों को पंजाब के सरकारी और निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है. दुर्घटना के बाद हालात की जानकारी हासिल करने के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किये गए हैं. 0183-2223171, 0183-2564485, 0183-2440024 और 0183-2402927 पर जानकारी ली जा सकती है.

दुर्घटनास्थल का नज़ारा

रावण दहन के दौरान हालात यह थे कि सिर्फ पांच सेकेण्ड में वहां अनेक लोग ट्रेन की चपेट में आकर कट गए और अनेक घायल हो गए. इनमें ज्यादातर महिलाएं और बच्चे थे. सरकारी सूत्रों ने मरने वालों की तादाद 61 बताई है. दुर्घटना के बाद हर तरफ खून बिखरा था और हर तरफ मानव अंग बिखरे हुए थे. मौके पर घायलों और परिजनों की दर्दनाक चीत्कार सुनाई दे रही थी. मरने वालों में ज्यादातर उत्तर प्रदेश और बिहार के लोग हैं.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।