आप यहां हैं : होम» राज्य

देश की इस पहली प्रयोगशाला में पैदा होंगे मादा बछड़े

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Mar 8 2019 1:45PM
rishikesh_201938134559.jpg

ऋषिकेश. उत्तराखंड के श्यामपुर में देश की पहली पशुपालन संस्था में लिंग वर्गीकृत वीर्य प्रयोगशाला का सीएम त्रिवेंद्र रावत ने लोकार्पण किया. इसका उद्देश्य देश में ज्यादा से ज्यादा मादा बछड़ों को पैदा करना है. साथ ही इस योजना से किसी भी प्रकार के आवारा पशुओं को सही रूप से डेरी फॉर्मिंग में उपयोग करने में भी सहायता मिलेगी.

पशुपालन मंत्री रेखा आर्य ने बताया कि भारत के 29 राज्यों में से उत्तराखंड राज्य में बनी ये पहली प्रयोगशाला है. इसकी लागत लगभग 101 करोड़ रुपये की है. जिससे इसमें सेक्स सॉर्टेड आर्गेनाईजेशन ज्यादा से ज्यादा मादा गायों को पैदा करके किसानों और डेरी फार्मिंग के काम में इस्तेमाल करना होगा.

इस प्रयोगशाला का उद्देश्य देश में ज्यादा से ज्यादा मादा बछड़ों को पैदा करना होगा. इसके साथ ही किस प्रकार से आवारा पशुओं को सही रूप से डेयरी फार्मिंग में उपयोग किया जाए. इस पर ज्यादा ध्यान देना होगा.

प्रदेश के मुख्यमंत्री ने बताया कि इसमें हर प्रकार की गायों को उपयोग में लिया गया है. जिसमें जर्सी गायें और अन्य गाय दूध के उत्पादन के लिए लाभदायक होंगी. इसके साथ ही किसानों को भी इस योजना से काफी लाभ होगा. जिससे मादा गाय उत्पादन के व्यवसाय के लिए उपयोग होगी. इसके साथ कि उन्होंने बताया कि इसमें 95 प्रतिशत संख्या मादा गायों की रहेगी और अभी तक इसमें 6 नर सांड भी प्रयोगशाला में लाये गए हैं.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।