आप यहां हैं : होम» राजनीति

कहीं EVM ने दिया धोखा कहीं धोखाधड़ी का आरोप

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Apr 11 2019 11:59AM
2019_2019411115912.png

नयी दिल्ली. लोकसभा के पहले चरण का मतदान देश की 91 सीटों पर चल रहा है. देश की सबसे बड़ी पंचायत के सदस्यों के चुनाव के लिए हो रहे इस महासंग्राम में उत्तर प्रदेश की 8 सीटें भी शामिल हैं.  तमाम तैयारियों के बावजूद ईवीएम खराब होने की सूचना इस बार भी मिल रही है. उत्तर प्रदेश के नोयडा, उत्तराखंड के काशीपुर और टेहरी में ईवीएम की खराबी की वजह से काफी देर तक मतदान रुका रहा. चुनाव के मद्देनज़र सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किये गए हैं. कहीं से अभी तक शान्ति भंग की सूचना नहीं मिली है लेकिन शामली में दलितों को मताधिकार से रोकने और मुज़फ्फरनगर से बीजेपी प्रत्याशी संजीव बालियान ने मतदान में धोखाधड़ी का आरोप लगाया है.

लोकसभा चुनाव 2019 के महापर्व का आज पहला चरण है. जिसमें उत्तराखंड की जनता खूब उत्साहित होकर अपने मताधिकार का प्रयोग कर रही है. उत्तराखंड की 5 लोकसभा सीटों के लिए आज हो रहे प्रथम चरण के मतदान के दौरान काशीपुर में आज कई जगह ईवीएम मशीन के साथ साथ वीवीपैट मशीन भी खराब होने की सूचना मिली है. जिसके बाद प्रशासन हरकत में आया और मशीनों को बदल दिया गया. इस वजह से कई जगह मतदाताओं को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा.

काशीपुर के उदय राज हिंदू इंटर कॉलेज में वीवीपैट मशीन खराब होने की वजह से आधा घंटा मतदान रुका रहा. वहीं गदरपुर में भी मशीन खराब होने से करीब एक घंटा मतदान रुका रहा. टिहरी जिले के घनसाली विधान सभा के पूरवाल गांव में दो घंटे बीत जाने के बाद भी ईवीएम की खराबी के कारण मतदान नहीं हो पाया. टिहरी जिले के घनसाली विधान सभा क़े पूरवाल गांव में ईवीएम मशीन खराब हो जाने से सुबह 10 बजे तक मतदान शुरू ही नहीं हो पाया. ईवीएम की खराबी की वजह से मतदाताओं को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा. मतदाता पोलिंग बूथ पर बैठकर ईवीएम मशीन का इंतजार कर रहे हैं.

टिहरी जिले के घनसाली के पूरवाल गांव के बूथ नंबर 152 पर 10 बजे तक मतदान नहीं हो पाया. बूथ नंबर 152 पर 900 मतदाताओं को मतदान करना था. एक मतदाता ने कहा कि मतदाता अपने मतदान को लेकर मतदान दिवस पर काफी उत्सुक रहता है. मगर जब मतदाता मतदान केन्द्र पर पहुँचता है और उसे पता चलता है कि ईवीएम मशीन खराब हो गयी है तो मतदाता का उत्साह टूट जाता है. यही मामला टिहरी जिले के घनसाली विधान सभा के पूरवाल गांव में हुआ है.

लोकसभा चुनाव मतदान को लेकर मतदाताओं में खासा उत्साह देखने को मिल रहा है. जहां मतदाता सुबह 7 बजे से लाइनों में लगकर अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहे हैं. बता दें कि लोकसभा चुनाव के प्रथम चरण में उत्तराखंड में मतदान प्रक्रिया सुबह 7 बजे से प्रारंभ हो गई थी. जिससे नैनीताल लोकसभा सीट पर अपना सांसद चुनने के लिए मतदाताओं में खासा उत्साह बना हुआ है. काशीपुर के युवाओं में अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए खुशी की लहर है. वहीं विकलांग भी अपने मत का जमकर प्रयोग कर रहे हैं. विकलांग मतदाता प्रियांशी ने अपने मत का प्रयोग कर अन्य मतदाताओं से मतदान की अपील की है. प्रियांशी ने बताया कि वह अपने जीवन में पहली बार मतदान कर रही है और अपने पहले मतदान को देश ओर उसकी सेना को समर्पित करती हैं.

उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा के बिलासपुर स्थित डॉक्टर राजेंद्र इंटर कॉलेज में पोलिंग बूथ 79 की ईवीएम मशीन काफी देर तक खराब रही. जिसके कारण बड़ी संख्या में मतदाता वापस लौट गए. जिसके बाद आनन-फानन में अधिकारियों ने ईवीएम मशीन बदलने की प्रक्रिया शुरू की.

शामली में दलित वोटरों को मतदान पर्ची होने के बावजूद वोट नहीं डालने दिए जाने की शिकायत मिल रही है. पीड़ितों का आरोप है कि मतदान अधिकारी की सूची में नाम होने के बाद भी उन्हें वोट नहीं डालने दिया जा रहा है. यह मामला सदर कोतवाली क्षेत्र के वी वी कॉलेज के बूथ संख्या 46 का है.

टिहरी जिले में निर्वाचन विभाग ने महिलाओं की सुविधा के लिए 2 सखी बूथ बनाये गए हैं. जिसमें से एक नई टिहरी और एक नरेन्द्र नगर में है. जहाँ महिला कर्मचारियों की तैनाती की गई है और महिलाओं को किसी तरह की परेशानी न हो इसके लिए व्यवस्थाएं की गई हैं.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।