आप यहां हैं : होम» राज्य

पूर्व सांसद को 18 साल में नहीं मिला पानी का कनेक्शन

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Dec 5 2018 5:44PM
satyadev singh_201812517445.jpg

बस्ती. चाहे आप किसी भी बड़े पद पर रह चुके हों, लेकिन अगर सत्ता में होते हुए भी आप किसी सत्ताधारी के नजदीक नहीं हैं, या सत्ता में मौजूद नेताओं की आप जी हूजूरी नहीं करते. तो आपकी कोई भी सुनवाई नहीं हो सकती है. ऐसा ही एक नज़ारा गोण्डा में देखा गया. पूर्व सांसद को पिछले 18 साल में पानी का कनेक्शन नहीं मिला है लेकिन बिल लगातार और समय से आ रहा है.

मामला पूर्व बीजेपी सांसद व अपने समय के बीजेपी के दिग्गज नेता सत्यदेव सिंह का है. जिन्हें पिछले 18 सालों से नगर पालिका द्वारा पानी की सप्लाई नहीं दी गई, लेकिन हर साल पानी का बिल थमा दिया जाता है. जिसकी शिकायत पूर्व सांसद ने कई बार नगर पालिका से की लेकिन सुनवाई एक बार भी नहीं हुई.

बीजेपी के पूर्व सांसद सत्यदेव सिंह को पिछले 15 सालों से नगर पालिका द्वारा पानी नहीं दिया गया लेकिन उनके पास हाउस टैक्स और वाटर टैक्स दोनों का बिल टाइम से आ जाता है. 15 साल बीत जाने के बाद भी उन्हें आज तक उन्होंने टोटी में पानी नहीं देखा.

बात करें नगर पालिका की तो पिछली कई सरकारों में एप्लीकेशन दे दे कर थक चुके हैं. ऐसे में नगर पालिका कर्मचारी इतने लापरवाह हैं कि एक पूर्व सांसद की भी बात नहीं सुन रहे हैं.

योगी सरकार भले ही लाखों करोड़ों रुपए विकास के नाम पर खर्च करती है लेकिन अधिकारी हैं कि उनके पैसा और काम दोनों को पलीता लगाने में लगे हुए हैं. बीजेपी गवर्नमेंट होने के बावजूद बीजेपी के ही पूर्व सांसद की नगर पालिका हो या जिलाधिकारी दोनों ही ने न सुनने की कसम खा रखी है. सांसद ने हाल ही में आए यूपी के सीएम से भी इसकी शिकायत की थी, लेकिन डीएम भी उनकी बातों को सुनकर नजरअंदाज कर जाते हैं.

पूर्व सांसद ने बताया कि एक दो बार उनके घर पर नगर पालिका द्वारा कुछ लेबर भेजे गए पानी के कनेक्शन करने के लिए लेकिन वह आते और गड्ढा खोदते व दीवार तोड़ते और पाइप कनेक्शन न मिलते ही वहां से गड्ढा पाटकर वह चले जाते, ऐसे ही बुरा हाल गोंडा की सड़कों का है.

काफी टाइम से झेल रहे गोंडा के वासियों की ख्वाहिश पूरी हुई थी, क्योंकि रोड का काम शुरू हुआ था लेकिन रोड के नीचे जो पुराना पाईप पड़ा हुआ था, वह फट गया जो कि हाल ही में 2 महीने पहले बनी आरसीसी सड़क का निर्माण कराया गया था पानी का पाईप फटने से पानी सड़क पर भरने से बुरा हाल हो गया. लोगों को चलने में इतनी दिक्कत होती है कि घंटों जाम लगा रहता है. लोगों की दुकान में भी पानी घुस जाता है. दुकानदारों ने भी इसकी शिकायत नगर पालिका और डीएम से की लेकिन चाहे फिर वह नगरपालिका हो चाहे या फिर अपनी चर्चाओं में रहने वाले डीएम साहब कैप्टन प्रभांशु श्रीवास्तव उन्हें जिले से मतलब नहीं है. वह अपने में मस्त हैं लेकिन जनता त्राहिमाम त्राहिमाम कर रही है.

डीएम गोंडा की समस्याओं को लेकर जरा सा भी गंभीर नहीं हैं. जिससे आए दिन परेशानी बनी रहती है. अब आप सोच सकते हैं कि जब एक पूर्व सांसद की बात को जिला प्रशासन नहीं सुन रहा है, तब आम जनता की बात को कैसे सूना जा सकता है. यहां के आला अधिकारी अपना-अपना पेट भरने में लगे हैं.

इस पूरे मामले पर पीओ विकास सेन ने बताया गोलमाल जवाब देते हुए कहा कि पानी सभी की जरूरत है. ऐसे में एक आदमी को क्यों कह रहे हैं, हालांकि अभी तक मुझे इस मामले में कोई जानकारी नहीं है. मुझसे अभी तक कोई शिकायत नहीं की गई है. वहीं अगर मामला मेरे संज्ञान में आएगा जांच कराकर जरूर कार्रवाई की जाएगी.

भाई नगर मैं एक प्राइवेट बैंक के सामने जो पानी की लाइन टूट गई है उसको मरम्मत करने के लिए पत्र लिखा गया है कि वह अपनी सड़क को काट कर हटा लें. जिससे हम उसे फिर से सही कर सकें.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।