आप यहां हैं : होम» राज्य

एटा जेल के कैदी बन गए हाईटेक किसान

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Mar 14 2019 2:42PM
Etah_2019314144238.jpg

एटा. जिला कारागार में कैदी अब हाईटेक किसान बन गये हैं. जिला कारागार में कैदियों को जैविक खेती का प्रशिक्षण देने के बाद कैदियों की मेहनत रंग लाई है और अपनी फसल को देखकर जहाँ वह खुशी से फूले नहीं समा रहे हैं वहीं आलू राजा की बड़ी तादात में उत्पादन को देखकर जेल के आला अधिकारी भी उनकी मेहनत को सराह रहे हैं. जैविक खेती के ज़रिये की गयी आलू की फसल में एक आलू नौ सौ ग्राम से एक किलो तक है.

जिला कारागार में बन्दियों ने जैविक खेती के माध्यम से सब्जियों के राजा आलू की फसल तैयार की है. चार महीने बंदियों को दिये गये प्रशिक्षण के बाद अब बंदियों के चेहरे पर खुशी की लहर साफ देखी जा सकती है. जिला जेल में इन बन्दियों ने जैविक खेती करने का हुनर सीखकर जैविक खेती करना शुरू कर दी है. उन्होंने अपने आलू को सीएम नाम दिया है. सीएम आलू की फसल पूरे जनपद में किसानों के लिए चर्चा का विषय बनी हुयी है.

विभिन्न आपराधिक मामलों में सजा काट रहे यह कैदी अब किसान बन गये हैं. जिला कारागार की करीब 5 एकड़ जमीन पर यह 25 से 30 कैदी रोजाना 5 से 6 घन्टे खेती कर थे और उनकी मेहनत रंग लाई. सीएम आलू की बंपर पैदावार से कैदी गदगद हैं. वहीं भारी मात्रा में आलू की पैदावारी से कैदियों के लिए अब बाहर से आलू मंगाने की जरुरत नहीं पड़ेगी.

स्वास्थ्य की दृष्टि से और खाने में यह आलू बेहद स्वादिष्ट हैं, और कैदी हाईटेक किसान बन गये हैं. अपने ही स्वादिष्ट आलू की पैदावारी का स्वाद ले रहे हैं.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।