आप यहां हैं : होम» राज्य

केडीए ने ध्वस्त कराई बगैर नक्शा बनी बिल्डिंग

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: May 15 2019 5:45PM
JCB_2019515174511.jpg

कानपुर. बगैर नक़्शे के बनायी जा रही एक बिल्डिंग को कानपुर विकास प्राधिकरण के प्रवर्तन दस्ते ने ध्वस्त कर दिया. बिल्डिंग ध्वस्त करने के पीछे केडीए की दलील है कि एनजीटी नियमों को देखते हुए यह एक्शन लिया गया है. साथ ही बिल्डिंग का नक्शा पास नहीं था. जिसके बाद इसको सील कर दिया गया था लेकिन बिल्डर सील तोड़कर निर्माण करा रहा था.

कोतवाली थाना क्षेत्र के सिविल लाइंस इलाके में गंगा के किनारे विनोद जैन बिल्डिंग का निर्माण करा रहा था. जबकि एनजीटी का आदेश है कि गंगा किनारे से सौ मीटर दूरी तक कोई मकान नहीं होना चाहिए. इसको देखते हुए कानपुर विकास प्राधिकरण ने विनोद जैन की बिल्डिंग को सील कर दिया था. बिल्डिंग को सील करने के बाद कानपुर विकास प्राधिकरण की तरफ से कई बार विनोद जैन को नोटिस भेजा गया लेकिन जवाब देने के बजाय वह सील तोड़कर निर्माण कराता रहा. कानपुर विकास प्राधिकरण इसको गंभीरता से लेते हुए बुधवार को भारी पुलिस बल के साथ विनोद जैन की बिल्डिंग पर पहुंचा और जीसीबी मशीनों द्धारा बिल्डिंग को ध्वस्त करने की कार्रवाई शुरू कर दी.

केडीए सचिव एसपी सिंह के मुताबिक इस भूखंड का मालिक राम कुमार है. इनका 2014 में नक्शा बना था. जिसको निरस्त करने के बाद इनको नोटिस जारी किया गया था. राम कुमार को अपनी बात कहने का कई बार अवसर दिया गया था, लेकिन वह आये नहीं. जिसके बाद ध्वस्तीकरण का आदेश पारित किया गया. आदेश के बाद इनके निर्माण को ध्वस्त कराया जा रहा है. केडीए सचिव का कहना है कि कानपुर में जितनी भी अवैध बिल्डिंग बन रही है या फिर जो सील तोड़कर निर्माण करा रहे हैं, उनको नोटिस भेजा गया है. जल्दी ही ऐसे लोगो के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाकर कार्रवाई की जायेगी.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।