आप यहां हैं : होम» देश

7 चरणों में होंगे लोकसभा चुनाव पहला चरण 11 अप्रैल को

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Mar 10 2019 7:36PM
sunil arora_201931019360.jpg

पहला चरण 11 अप्रैल

दूसरा चरण 18 अप्रैल

तीसरा चरण 23 अप्रैल

चौथा चरण 29 अप्रैल

पांचवां चरण 6 मई

छठा चरण 12 मई

सातवाँ चरण 19 मई

चुनाव परिणाम 23 मई

नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव की तारीखों का एलान हो गया है. मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त सुनील अरोड़ा ने बताया कि चुनाव 7 चरणों में होंगे. पहला चरण 11 अप्रैल को और अंतिम चरण 19 मई को होगा. 23 मई को मतगणना होगी. उल्लेखनीय है कि 2014 के लोकसभा चुनाव 9 चरणों में हुए थे.

लोकसभा चुनाव के साथ ही पांच राज्‍यों के विधानसभा चुनाव भी होंगे. लोकसभा चुनाव के पहले चरण के लिये 11 अप्रैल, दूसरे चरण के लिए 18 अप्रैल, तीसरे चरण के लिए 23 अप्रैल, चौथे चरण के लिए 29 अप्रैल, पांचवें चरण के लिए छह मई, छठे चरण के लिए 12 मई और सातवें चरण के लिए 19 मई को वोट डाले जायेंगे. 23 मई को मतगणना के आधार पर चुनाव परिणाम घोषित होगा.

मुख्य चुनाव आयुक्त द्वारा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा होने के साथ ही तत्काल प्रभाव से आचार संहिता लागू हो गई है. पहले चरण के मतदान की अधिसूचना 18 मार्च को जारी कर दी जायेगी. मौजूदा लोकसभा का कार्यकाल तीन जून को खत्म हो रहा है.

आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद सरकार कोई भी नीतिगत फैसला बही कर पायेगी.

चुनाव आयोग ने तय किया है कि जम्मू कश्मीर की अनंतनाग लोकसभा सीट पर सुरक्षा कारणों की वजह से मतदान तीन चरणों में सम्पन्न कराया जायेगा. 11 अप्रैल को पहले चरण में आंध्र प्रदेश की 25, तेलगांना की 17, उत्तर प्रदेश की 8, महाराष्ट्र की 7, असम और मणिपुर की 5- 5, बिहार की 4, अरुणाचल प्रदेश, जम्मू-कश्‍मीर, मेघालय और पश्चिम बंगाल की दो-दो सीट, छत्तीसगढ़, नागालैंड, ओडिशा, सिक्किम, त्रिपुरा, अंडमान और लक्ष्यद्वीप की एक-एक सीट पर मतदान होगा.

चुनाव आयोग ने आज शाम 5 बजे चुनाव कार्यक्रम की घोषणा को लेकर प्रेस कांफ्रेंस बुलाई तो दक्षिण भारत के तमाम नेता चिंतित नजर आये क्योंकि आज शाम को 4.30 बजे से लेकर 6 बजे तक राहु काल बताया गया था. नेताओं ने कहा कि यह ऐसा वक्त होता है जिसमें कोई खास काम शुरू नहीं किया जाता. बेहतर होगा कि आयोग अपनी प्रेस कांन्फ्रेंस के समय में बदलाव कर ले लेकिन आयोग ने अपनी प्रेस कांफ्रेंस निर्धारित समय पर ही की. 

लोकसभा चुनाव ईवीएम के ज़रिये ही कराया जाएगा लेकिन आयोग ने ईवीएम पर हर प्रत्याशी की तस्वीर लगाने और ईवीएम मशीन को वीवीपैट से जोड़ने का फैसला किया है. इस फैसले से ईवीएम पर लगने वाले आरोपों पर अंकुश लग सकेगा क्योंकि मतदाता वोट डालने के साथ ही यह समझ लेगा कि उसका वोट कहाँ गया है.

11 अप्रैल को पहले चरण में 20 राज्‍यों की 91 लोकसभा सीटों पर वोट डाले जाएंगे. दूसरे चरण में 18 अप्रैल को 13 राज्‍यों की 97 सीटों के लिए मतदान होगा. तीसरे चरण में 23 अप्रैल को 14 राज्यों की 115 सीटों पर वोट डाले जायेंगे. चौथे चरण में 29 अप्रैल को 9 राज्‍यों की 71 सीटों के लिए मतदान होगा. पांचवें चरण में 6 मई को 7 राज्‍यों की 51 लोकसभा सीटों पर मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे. छठा चरण 12 मई को होगा जिसमें 7 राज्‍यों की 51 लोकसभा सीटों के लिए वोट डाले जाएंगे. सातवें चरण का मतदान 19 मई को होगा जिसमें 8 राज्‍यों की 59 सीटों के लिए वोटिंग होगी.

चुनाव आयोग ने पेड न्यूज़, फेक न्यूज़ और हेट स्पीच पर कंट्रोल करने का फैसला किया है. सोशल मीडिया पर कड़ाई से नज़र रखी जायेगी. राजनीतिक दल सोशल मीडिया पर विज्ञापन करेंगे तो आयोग उसका संज्ञान लेगा और उसे उम्मीदवार के खर्चे में जोड़ेगा. चुनाव आयोग ने मीडिया से सभी राज्यों के चुनाव आयुक्तों से बात करने को कहा है ताकि कवरेज निष्पक्ष रहे.

चुनाव आयोग ने लाउडस्पीकर का इस्तेमाल रात 10 से सुबह छह तक बंद रखने का आदेश दिया है. सभी उम्मीदवारों को अपनी चल-अचल सम्पत्ति और शिक्षा की जानकारी देनी होगी. इस चुनाव में 90 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।