आप यहां हैं : होम» राज्य

हल्द्वानी में इस तरह से सजी है पुलवामा शहीदों की यादें

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Mar 8 2019 7:46PM
haldwani_201938194629.jpg

हल्द्वानी. पुलवामा आतंकी हमले में शहीदों को लोग अपने-अपने तरीके से श्रद्धाजंलि अर्पित कर रहे हैं. हल्द्वानी के वन अनुसंधान केन्द्र ने शहीदों की याद में पुष्प वाटिका तैयार की है. शहीद वाटिका में 42 सैनिकों की याद में 42 पौधे लगाए गए हैं. वन अनुसंधान केन्द्र के प्रभारी रेंजर मदन सिंह बिष्ट ने यह पहल की है. इस वाटिका को शहीद वाटिका नाम दिया गया है. जिसमें बेल, रुद्राक्ष, आम, तिमिल, पीपल, बेडू, तेजपत्ता, जामुन, च्यूरा, इमली, टीढ़ा, पुत्रजीवा, गुलमोहर, कदंब, मौलश्री आदि के पौधे लगाए गए हैं.

इस शहीद वाटिका में जैव विविधता का पूरा ध्यान रखा गया है. इसमें औषधीय पौधे भी लगाए हैं. प्रभारी रेंजर मदन सिंह के मुताबिक जैसे जैसे वाटिका गुलज़ार होगी, शहीदों की याद हमारे जेहन में ताज़ा होती रहेगी. यही जांबाज़ शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि भी होगी. यही नहीं जल्द ही 42 शहीदों की नेम प्लेट भी इन पौधों पर लगाई जाएगी. वन अनुसंधान केन्द्र द्वारा शहीदों की याद में बनायी गयी शहीद वाटिका बेहद अच्छी पहल है. जिन शहीदों ने देश की रक्षा में अपना सब कुछ बलिदान कर दिया. उनकी याद को हमेशा यह पेड़ हमारे दिलों में ताजा रखेंगे.

आतंकी हमले में शहीद मेजर विभूति औऱ मेजर चित्रेश समेत 40 शहीदों की याद में शहीद वाटिका बनाई गयी है, देश के लिये शहीदों को किसी ने केंडल मार्च के जरिये श्रद्धाजंलि दी तो किसी ने मौन ऱखकर दी, लेकिन वह अनुसंधान केन्द्र ने 42 पौधों की वाटिका इनकी याद में तैयार कर दी है, जिसमें बेल, रुद्राक्ष, आम, तिमिल, पीपल, बेडू, तेजपत्ता, जामुन, च्यूरा, इमनी, टीढ़ा, पुत्रजीवा, गुलमोहर, कदंब, मौलश्री आदि के पौधे लगाए गए हैं. शहीद वाटिका में जैव विविधता का पूरा ध्यान रखा गया है, इसमें औषधीय पौधे भी लगाए हैं. यह पौधे शहीदों की तरह महत्वपूर्ण हैं.

पर्यावरण से प्रदूषित होने के अलावा पक्षियों के लिए भी लाभदायक है. मनुष्यों के रोगों को दूर करने के लिए भी उपयोगी हैं. जैसे-जैसे वाटिका गुलज़ार होगी शहीदों की याद हमारे जेहन में ताज़ा होती रहेगी, और यही उन जांबाज़ शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि भी होगी, यही नहीं जल्द ही 42 शहीदों की नेम प्लेट भी इन पौधों पर लगाई जाएगी.

वन अनुसंधान केंद्र द्वारा शहीदों की याद में बनायी गयी शहीद वाटिका बेहद अच्छी पहल है, जिन शहीदों ने देश की रक्षा में अपना सब कुछ बलिदान कर दिया उनकी याद को हमेशा ये पेड़ हमारे दिलों में ताजा रखेंगे.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।