आप यहां हैं : होम» राज्य

स्ट्रांग रूम से ईवीएम बाहर निकाले जाने पर विपक्ष आंदोलित

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: May 15 2019 1:24PM
EVM_2019515132423.jpg

सिद्धार्थनगर. जिले के स्ट्रांग रूम से ईवीएम को परिसर से बाहर ले जाने का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है. विपक्ष के नेता जिला प्रशासन पर धांधली का आरोप लगा रहे हैं, और ईवीएम शिफ्टिंग के लिए दिए लिखित आदेश की मांग कर रहे हैं.

आपको बता दें कि बीती 12 मई को छठे चरण के चुनाव के बाद जिला मुख्यालय के मंडी परिसर में स्ट्रांग रूम बनाकर ईवीएम रखी गई थी. जहां से मंगलवार को दोपहर 2 बजे के आसपास कुछ ईवीएम मशीनें दो गाड़ियों में लादकर परिसर से बाहर ले जाई जा रही थीं. जिसे स्ट्रांग रूम के बाहर मौजूद लोगों ने ईवीएम लदी गाड़ियों को रोक लिया और विरोध करने लगे. देखते देखते मौके पर भीड़ बढ़ने लगी जिसके बाद मौके पर पहुंचे जिलाधिकारी से लोगों ने चुनाव आयोग द्वारा मशीन शिफ्टिंग के लिखित आदेश की मांग की जिसे जिलाधिकारी नहीं दिखा पाए.

डुमरियागंज से कांग्रेस प्रत्याशी चंद्रेश उपाध्याय सहित गठबंधन के वरिष्ठ सपा और बसपा नेता जिला प्रशासन पर धांधली का आरोप लगा रहे हैं और ईवीएम की शिफ्टिंग का आदेश लिखित रूप में मांग रहे हैं. डुमरियागंज लोकसभा सीट पर 6वे चरण में चुनाव के बाद जनपद मुख्यालय के मंडी परिसर में स्ट्रांग रूम बनाकर ईवीएम रखी गई थी. मंगलवार को दोपहर 2 बजे के आसपास कुछ ईवीएम मशीनें दो गाड़ियों में लादकर परिसर से बाहर ले जाई जा रही थीं. बाहर मौजूद लोगों ने ईवीएम लदी गाड़ियों को रोक लिया और ले जाने का विरोध करने लगे. देखते देखते भीड़ बढ़ने लगी और गठबंधन और कांग्रेस कार्यकर्ता विरोध करने लगे. ईवीएम मशीनों की शिफ्टिंग पर कांग्रेस प्रत्याशी चंद्रेश उपाध्याय ने कहा कि अगर प्रशासन को ईवीएम शिफ्ट करना था तो प्रत्याशियों को बताना चाहिए था. डॉक्टर चंद्रेश ने जिलाधिकारी से चुनाव आयोग द्वारा मशीन शिफ्टिंग के आदेश को लिखित रूप से मांगने की बात कही है. उन्होंने डीएम की इस बात को भी झूठा कहा कि चुनाव आयोग ने उन्हें कोई ऐसा आदेश दिया था.

वहीं सपा के पूर्व विधायक विजय पासवान ने प्रशासन पर आरोप लगाया है कि भाजपा की हार से बौखलाए योगी आदित्यनाथ प्रशासन पर दबाव डालकर मशीनों को बदलने का काम कर रहे हैं. ईवीएम शिफ्टिंग के इस मामले में समाचार लिखे जाने तक तनाव की स्थिति बनी हुई थी. गठबंधन और कांग्रेस के कार्यकर्ता और वरिष्ठ नेता कलेक्ट्रेट परिसर और स्ट्रांग रूम के बाहर जमे हुए थे.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।