आप यहां हैं : होम» देश

जवानों की हत्या से देश में गुस्से की लहर

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Feb 16 2019 4:02PM
pulwama_201921616257.jpg

नई दिल्ली. पुलवामा में हुई जवानो की हत्या के मामले में देश के लोगों का गुस्सा चरम सीमा पर पहुँच चुका है. हिन्दू-मुसलमान सभी सड़कों पर निकलकर पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. लोगों की सरकार से मांग है कि पाकिस्तान को मिटा दिया जाए.

जिस तरीके से आतंकवादियों ने इतनी बड़ी हरकत की है कि वह माफ़ी लायक नहीं है. जिस पाकिस्तान ने आतंकवादियों को जन्म दिया है उस पाकिस्तान को नेस्तनाबूद किया जाए, और हिंदुस्तान के जो जवान शहीद हुए है उनके लिए मुस्लिम समुदाय ने मस्जिद में बैठकर उन शहीदों के परिवार के लिए अल्लाह से दुआएं मांगी कि शहीदों के परिवार को हौंसला मिले.

आक्रोशित लोगों का कहना है कि पाकिस्तान को उसके घर में घुसकर मारने का वक्त आ गया है. खत्म कर देना चाहिए उन आतंकवादियों को जो यह हरकत कर रहे हैं. इसे अब और सहन नहीं किया जा सकता. पाकिस्तान को मुँहतोड़ जवाव देकर यहाँ बताना होगा कि हिंदुस्तान अब चुप नहीं बैठेगा. उसी को लेकर आज मस्जिद में दुआ करने के बाद पाकिस्तान मुर्दाबाद और प्रधानमंत्री इमरान खान मुर्दाबाद के नारे लगाये गए. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का पुतला फूँक कर विरोध जताया गया.

कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों को श्रदांजलि देते हुए उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जनपद में सभी दुकानें बंद रहीं. लोगों ने केन्द्र सरकार से अपील की कि इस हमले के दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाय.

आजमगढ़ जिले में सभी लोगों ने अपनी प्रतिष्ठानों को बंद रखा और पुलवामा में शहीद हुए जवानों को श्रदांजलि दी. जिले में सभी तरफ शोक की लहर थी और सड़कों पर सन्नाटा पसरा था. लोगों ने इस हमले की निन्दा करते हुए कहा कि इस घटना की सरकार पूरी जांच करे और जो लोग इसमें दोषी है. उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें. उनके परिवार की सरकार पूरी मदद करें.

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिये पूरे देश में भारत बंद है. जिसको लेकर मसूरी में भी बंद का असर देखा देखा गया. मसूरी में सुबह से ही अधिकतर प्रतिष्ठान बंद थे. वह लोगों में पुलवामा में हुये कायराना हमले के खिलाफ आक्रोश देखा गया.

44 जवानों के शहीद होने का दुख भी था. दूसरी ओर मसूरी में  भाजपा के द्वारा अटल आयुष्मान के तहत लोगों को दिये जाने वाले स्वास्थ्य कार्ड के वितरण कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया.

सीएमओ एस.के.गुप्ता ने कहा कि पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद शहीद हुए 44 जवानों के बाद पूरा देश दुखी है और आंतकियों के प्रति भारी आक्रोश व्याप्त है. उन्होंने कहा कि उनको पूरा विश्वास है कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पाकिस्तान और आंतकियों को सबक सिखाने के लिये जल्द कड़ी कार्रवाई करेंगे. जिससे देश से आंतक जैसा नाम ही खत्म हो जाये.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।