आप यहां हैं : होम» राज्य

एक ही ज़मीन को कई लोगों को बेच देता है यह चकबंदी अधिकारी

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Apr 18 2019 5:38PM
Roorkee_2019418173823.jpg

रुड़की. चकबंदी में तैनात प्रदीप गर्ग नाम के अधिकारी पर एक ही जमीन को कई-कई बार बेचने का आरोप लगा है. आरोपित अधिकारी प्रदीप गर्ग उधमसिंहनगर के बाजपुर में चकबंदी अधिकारी के पद पर तैनात हैं. ठगी का शिकार हुए मंगलौर निवासी ओमप्रकाश ने आरोप लगाया है कि प्रदीप गर्ग ने अपने पद का दुरुपयोग कर अपनी पत्नी और अपने रिश्तेदारों के नाम पर विभिन्न संपत्ति बनाई हुई हैं. भूमाफियाओं का एक गिरोह भी बना रखा है. जो लोगों को फंसाकर एक ही संपत्ति को कई कई बार बेचकर ठगी करता है.

पीड़ित ओमप्रकाश के मुताबिक 2014 में प्रदीप गर्ग ने उन्हें भगवानपुर के रायपुर में एक प्लाट दिखाया था. जो प्रदीप गर्ग ने अपनी पत्नी स्मृति गर्ग के नाम बताया था. फिर पीड़ित ने आरोपित अधिकारी की पत्नी से वो प्लाट खरीद लिया और अपने नाम बैनामा भी करा लिया. जब पीड़ित उस प्लाट पर पहुंचा, तो वहां मकान बन चुका था. जिसके मकान मालिक ने बताया कि उसने प्रदीप गर्ग से ये मकान 2012 में खरीदा है. अब पीड़ित न्याय पाने के लिए अधिकारियों की चौखट के चक्कर लगा रहा है, जबकि आरोपित अधिकारी के गुर्गे उन्हें धमकी दे रहे हैं.

ओमप्रकाश ने बताया की प्लाट पहले बिका हुआ है जब उन्हें जानकारी मिली तो उन्होंने प्रदीप गर्ग से संपर्क किया तो प्रदीप गर्ग और उसके साथियो ने कहा की हम इसी तरह से लोगों के साथ धोखा देकर धन ऐंठने का कार्य करते हैं. तुम हमारा कुछ नहीं बिगाड़ सकते हमारी शासन प्रशासन में अच्छी पहचान है. तुमसे जो हो सकता है कर लो. ओमप्रकाश का कहना है कि ठगी के बाद उन्होंने प्रदीप गर्ग के बारे में जानकारी जुटाई तो पता चला की वो इसी तरह के कार्य करता है और कुछ समय पहले आय से अधिक संपत्ति जैसे किसी मामले में जेल भी जा चुका है.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।