आप यहां हैं : होम» राज्य

खुले कपाट : छह हज़ार श्रद्धालुओं ने किया बाबा केदार का दर्शन

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: May 10 2019 11:42AM
kedanath_today_2019510114253.jpg

रुद्रप्रयाग. भगवान केदारनाथ के कपाट खुलने के बाद केदारनाथ धाम में तीर्थ यात्रियों का हुजूम उमड़ रहा है. प्रशासन की मानें तो कपाट खुलने के पहले ही दिन छह हजार से अधिक यात्री धाम में पहुंचे. साथ ही केदारनाथ धाम में आने वाले श्रद्धालु केदारनाथ में दी जा रही व्यवस्थाओं से खुश नजर आ रहे हैं. वहीं यात्रा शुरू हो जाने से स्थानीय लोगों में भी खासा उत्साह देखने को मिल रहा है.

इस बार केदारनाथ मंदिर परिसर के चारों ओर का नजारा दिव्य नजर आ रहा है. मंदिर के सामने से रास्ते को चौड़ा किया जाने से श्रद्धालुओं में काफी खुशी नजर आ रही है. पहले मंदिर परिसर के आगे श्रद्धालुओं की काफी भीड़ रहती थी. जिससे काफी मुसीबतें होती थी, लेकिन अब रास्ते के चौड़े होने से यात्रियों को राहत मिल रही है. वहीं टोकन सिस्टम के शुरू हो जाने से भी श्रद्धालुओं को खासा आराम मिल रहा है. टोकन सिस्टम शुरू होने के कारण अब धाम में आने वाले तीर्थ यात्रियों को लम्बी लाइनों से निजात मिल चुकी है.

केदारनाथ धाम के कपाट खुलने के बाद केदारपुरी में छह माह से पसरा सन्नाटा दूर हो गया है. केदारपुरी में तीर्थ यात्रियों की खूब चहल-कदमी हो रही है. यात्रा शुरू होने के बाद स्थानीय लोगों में भी भारी उत्साह है. भीषण ठंड होने के बावजूद यात्री बाबा के दरबार में पहुंचकर मत्था टेक रहे हैं. धाम में मिल रही सुविधाओं से यात्री भी खुश हैं. यात्री प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा केदारनाथ में कराये गये कार्यों को सराह रहे हैं. अधिकतर श्रद्धालु घोड़े-खच्चरों से पहुंच रहे हैं.

गौरीकुण्ड से केदारनाथ धाम तक पैदल पड़ाव को दुरुस्त कर लिया गया है. यात्रा मार्ग में डरने जैसी कोई बात नहीं रह गयी है. धाम में श्रद्धालुओं के लिए रहने की पर्याप्त मात्रा में जगह की व्यवस्था है. टेंट और हट्स में तीर्थयात्री रह रहे हैं. इस बार केदारनाथ मंदिर परिसर के चारों ओर का नजारा दिव्य नजर आ रहा है. मंदिर के सामने से रास्ते को चौड़ा किया जाने से श्रद्धालुओं में काफी खुशी नजर आ रही है. पहले मंदिर परिसर के आगे श्रद्धालुओं की काफी भीड़ रहती थी, जिससे काफी मुसीबतें होती थी, लेकिन अब रास्ते के चौड़ा होने से यात्रियों को राहत मिल रही है.

पिछले दो माह से बर्फवारी और बारिश के कारण बंद पड़े पुनर्निर्माण कार्य को मौसम के साफ होने के बाद शुरू किया गया है. इन दिनों निम के मजदूर घाट निर्माण के अलावा तीर्थ पुरोहितों के भवन का निर्माण कर रहे हैं. इसके अलावा केदारधाम में शंकराचार्य की समाधि स्थल का कार्य भी शुरू किया जायेगा. केदारनाथ यात्रा के लिनचैली से धाम के बीच कई जगहों पर बर्फ जमी पड़ी है, जिसे साफ करने का कार्य किया जा रहा है. जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि तीर्थयात्री उत्साह के साथ बाबा की नगरी में पहुंच रहे हैं. प्रशासन की ओर से तीर्थयात्रियों की हरसंभव मदद की जा रही है.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।