आप यहां हैं : होम» देश

बीजेपी को सत्ता से बेदखल करेगा सपा-बसपा गठबंधन

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Jan 12 2019 1:31PM
maya-akhilesh_2019112133110.png

देशहित में गेस्टहाउस काण्ड से ऊपर उठकर साथ आने का फैसला किया : मायावती  

बीजेपी ने अघोषित इमरजेंसी के ज़रिये लोगों का जीना दूभर कर दिया : मायावती

गुरू-चेला की नींद उड़ा देगा यह गठबंधन : मायावती

यह गठबंधन कल्याणकारी रास्ता मुकर्रर करेगा : मायावती

मायावती का अपमान मेरा अपमान : अखिलेश यादव

इस सरकार ने भगवानों को भी जातियों में बाँट दिया : अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश को जाति प्रदेश बना दिया गया है : अखिलेश यादव

हम समाजवादी हैं और बराबर की हिस्सेदारी पर भरोसा करते हैं : अखिलेश यादव

गठबंधन से घबराकर बीजेपी दंगा-फसाद करा सकती है : अखिलेश यादव

लखनऊ. समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी 2019 का लोकसभा चुनाव मिलकर लड़ेंगे. यूपी की 80 लोकसभा सीटों में दोनों पार्टियाँ 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी. रायबरेली और अमेठी सीट को सोनिया गांधी और राहुल गांधी के लिए छोड़ दिया गया है. शेष दो सीटों को अन्य दलों के लिए छोड़ा गया है. इस पर भविष्य में फैसला किया जाएगा.

राजधानी के ताज होटल में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी की संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में मायावती ने कहा कि यह प्रेस कांफ्रेंस गुरू-चेला (नरेन्द्र मोदी और अमित शाह) की नींद उड़ा देगी. मायावती ने कहा कि 1993 में कांशीराम और मुलायम सिंह यादव ने बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर के सपनों को पूरा करने के लिए जो गठबंधन किया था वह गेस्ट हाउस काण्ड के बाद टूट गया था. बीजेपी ने देश में जो धार्मिक उन्माद फैलाया और अघोषित इमरजेंसी के ज़रिये लोगों का जीना दूभर कर दिया तो हमने देशहित में गेस्टहाउस काण्ड से ऊपर उठकर साथ आने का फैसला किया.

मायावती ने कहा कि समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी का यह गठबंधन कल्याणकारी रास्ता मुकर्रर करेगा. उन्होंने कहा कि यह दो पार्टियों का मिलन नहीं बेरोजगारों, दलितों और अल्पसंख्यकों का प्रतिनिधित्व है. कांग्रेस को गठबंधन में शामिल न करने की वजह स्पष्ट करते हुए मायावती ने कहा कि कांग्रेस और बीजेपी दोनों ने ही रक्षा सौदों में घोटाले किये हैं. मायावती ने कहा कि कांग्रेस बोफोर्स की वजह से सत्ता से बाहर हुई थी और बीजेपी राफेल की वजह से सत्ता से बाहर होगी. इस चुनाव में बीजेपी का वही हश्र होगा जो 77 में कांग्रेस का हुआ था. मायावती ने कहा कि यह गठबंधन स्थायी है और विधानसभा में भी चलेगा.

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी के पांच साल के शासन में बेरोजगार और किसान आत्महत्याओं के लिए मजबूर हुआ. बच्चियों के साथ लगातार अत्याचार हो रहे हैं. उत्तर प्रदेश को जाति प्रदेश बना दिया गया है. अस्पताल में इलाज कराने और थाने में एफआईआर कराने के लिए भी अपनी जाति बतानी पड़ती है. अखिलेश यादव ने कहा कि इस सरकार ने भगवानों को भी जातियों में बाँट दिया.

अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी उद्योगपतियों को खुश करने में लगी है. हीरा व्यापारियों को खुश करने के लिए बुलेट ट्रेन चलाने जा रही है. उन्होंने कहा कि सपा-बसपा का गठबंधन बीजेपी के अत्याचारों का अंत है. उन्होंने कहा कि इस गठबंधन की नींव उसी दिन पड़ गई थी जिस दिन बीजेपी ने मायावती पर अशोभनीय टिप्पड़ी की थी, और उस दिन इस गठबंधन पर मोहर लग गई जिस दिन बीजेपी ने भीमराव अम्बेडकर को राज्यसभा में पहुँचने से रोकने के लिए गलत रास्ता अपनाया था.

समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं से सपा सुप्रीमो ने कहा कि आज से मायावती का अपमान मेरा अपमान होगा. उन्होंने कहा कि हम समाजवादी हैं और बराबर की हिस्सेदारी पर भरोसा करते हैं. उन्होंने कहा कि बीजेपी इस गठबंधन से घबराकर गलतफहमी भी पैदा कर सकती है और दंगा-फसाद भी करा सकती है.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।