आप यहां हैं : होम» अपराध

दीवाली की रात कई जगह लगी भीषण आग, कहीं एलर्ट कहीं लापरवाही

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Nov 8 2018 10:19AM
fire_2018118101946.jpg

लखनऊ. रौशनी के पर्व दीवाली पर पटाखे चलाने की परम्परा पर इस बार ज़हरीली होती हवा के मद्देनज़र सुप्रीम कोर्ट ने कुछ बंदिशें लगाई थीं लेकिन उन बंदिशों का कोई ख़ास असर नज़र नहीं आया और लोगों ने जमकर पटाखे फोड़े. एक तरफ हर तरफ से पटाखों का शोर सुनाई दे रहा था तो दूसरी तरफ राजधानी लखनऊ समेत कई शहरों में दीवाली की रात आग लग जाने की वजह से काफी नुकसान की भी खबर है.

राजधानी लखनऊ में जहां एक तरफ लोग दिवाली का पर्व मना रहे थे वहीं दूसरी तरफ कुछ जगहों पर आग का भयानक तांडव देखने को मिला. नाका थाना क्षेत्र के राजेन्द्र नगर में मोमबत्ती के कारखाने में आग लग गई. देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया और 3 मंजिला इमारत को अपनी चपेट में ले लिया. सूचना पर पहुंची दमकल की 7 गाड़ियों ने आग पर काबू पाया.

मोमबत्ती के कारखाने में लगी आग इतनी भीषण थी कि आग से कई लोगों के आशियाने जलकर खाक हो गए. दीपावली के पर्व पर तमाम लोग खुशियां मना रहे थे और अपने घरों में दिए रोशन कर रहे थे वहीं दूसरी तरफ आज राजधानी में आग का तांडव देखने को मिला. जहां एक तरफ सरकार ने खतरनाक पटाखों पर प्रतिबंध लगाया है वहीं दूसरी तरफ इन्हीं पटाखों से कईयों के आशियाने जलकर खाक हो गए.

थाना नाका हिंडोला क्षेत्र के राजेन्द्र नगर में 3 मंजिला इमारत में भयानक आग लग गई. 3 मंजिला इमारत में अवैध तरीके से मोमबत्ती का कारखाना चल रहा था. जिस में पटाखों की वजह से आग लग गई. देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया. फैक्ट्री में लगभग आधा दर्जन से ज्यादा सिलेंडर रखे हुए थे. एक एक करके सभी सिलेंडर ब्लास्ट हो गए. क्षेत्र में अफरा-तफरी का माहौल बन गया.

मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड और कई थानों की फोर्स ने 4 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया, लेकिन देखने वाली बात यह रही कि नाका थाना क्षेत्र में इतना बड़ा कारोबार अवैध तरीके से चल रहा था और पुलिस को इसकी भनक तक नहीं थी. स्थानीय लोगों का कहना है कि मना करने पर कारखाने के मालिक हमेशा लड़ने को तैयार हो जाते और लोगों को धमकी दिया करते थे. अब देखने वाली बात यह होगी कि फैक्ट्री जलकर खाक हो गई और मालिक मौके से फरार हो गया. इस मामले पर पुलिस क्या कार्रवाई करती है.

उत्तर प्रदेश के जालौन में दीपावली के दिन आतिशबाजी की एक दुकान में अचानक आग लग गई. देखते ही देखते एक-एक करके 5 दुकानों तक आग की लपटें पहुँच गईं. इसमें 3 बाईकें और स्कूटी जलकर खाक हो गई. इस आग को देख वहाँ पर मौजूद दुकानदारों ने वहां मौजूद फायर बिग्रेड कर्मियों से आग बुझाने के लिये कहा, लेकिन गाड़ी में पानी न होने से आग को नहीं बुझाया जा सका. जिससे दुकानदारों में गुस्सा देखने को मिला. आग की सूचना पर प्रशासनिक अधिकारी पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे और उस स्थान को खाली कराया. साथ ही जालौन उरई से दमकल की 2 गाड़ियों को बुलाया गया, तब जाकर आग को बुझाया जा सका.

घटना जालौन के कोंच कोतवाली के धनुताल की है. यहाँ पर लाइसेंस लेकर 9 लोग आतिशबाज़ी की दुकानें लगाये हुये थे. आज दीपावली के दिन यहाँ पर स्थानीय लोग आतिशबाजी खरीदने के लिये आये थे. तभी अचानक अनिल बादशाह की दुकान में आग लग गई. इस दुकान में जैसे ही आग लगी वहाँ अचानक अफरा तफरी मच गई, और वहाँ मौजूद लोग भागने लगे. आग को देख दुकानदार ने उसे बुझाने का प्रयास किया, लेकिन पटाखों ने आग का विकराल रूप धारण कर लिया. जिसे देख वहाँ मौजूद फायर बिग्रेड वालों से आग को बुझाने के लिये कहा लेकिन दमकल की गाड़ी में पानी न होने के कारण आग नहीं बुझायी जा सकी. परिणाम यह रहा कि एक-एक करके 5 दुकान इसकी चपेट में आ गई और आग ने विकराल रूप ले लिया, और आतिशबाजी के कारण वहाँ एक मकान भी इसकी चपेट में आ गया.

आग से पूरे इलाके में दहशत फैल गई. लोगों ने प्रशासन को इसकी सूचना दी लेकिन कोई भी दमकल कर्मी ने आग को बुझाने का प्रयास नहीं किया. जिससे दुकानदारों में आक्रोश देखने को मिला. दुकानदारों का आरोप है कि फायर सर्विस की गाड़ी खड़ी रही, लेकिन किसी ने आग नहीं बुझाई. यहाँ तक लोगों ने बताया कि कई बार इसके लिये कहा लेकिन जब आग भड़की तो उन्होंने पानी डाला लेकिन वह भी खत्म हो गया. इसके अलावा दुकानदारों का आरोप था कि पुलिस प्रशासन लगातार अवैध उगाही करता रहता है, लेकिन कुछ भी सुरक्षा नहीं की.

दुकानदारों ने बताया कि 5 दुकानों के साथ 3 से 4 गाडियाँ भी जल गई हैं और 30 से 35 लाख का नुकसान हुआ है. वहीं घटना स्थल पर पहुंचे कोंच के तहसीलदार ने बताया कि 5 दुकानों के साथ 3 से 4 गाडियाँ भी जली हैं. नुकसान का आंकलन किया जा रहा है. सभी दुकानें लाईसेंसी थीं.

उन्होंने बताया कि आग लगने का कारण अभी स्पष्ट नहीं है. वहीं दुकानदारों के आरोपों पर उन्होंने बताया कि पटाखे ज्वलनशील होते हैं, है और आग जल्द पकड़ लेते हैं. आग बुझाने का प्रयास किया गया और कोंच के साथ जालौन और उरई से 3 गाडियाँ बुलाई गईं. जिससे आग को बुझाया जा सका.

आगरा में थाना एत्माउद्दौला इलाके के हनुमान नगर स्थित निजी बिजली कम्पनी टोरेंट के गोदाम में देर रात भीषण आग लग गयी. भीषण आग के कारण कई क्षेत्रों की बिजली बंद कर दी गयी. गोदाम में अचानक लगी भीषण आग की सूचना पर एक के बाद एक आधा दर्जन दमकल आग पर काबू पाने में जुट गई. वहीं बिजली के गोदाम में लगी आग से बड़ा नुक्सान होने की आशंका जताई जा रही है. इस आग में बिजली के कई ट्रांसफार्मर के साथ तमाम बिजली के उपकरण आग में जल गए हैं. फिलहाल आग लगने का कारण साफ़ नहीं हो सका है.

कानपुर के नौबस्ता थाना इलाके में देर रात भीषण हादसा हो गया. यशोदा नगर में उस वक्त हड़कंप मच गया जब एक ट्रक में अचानक आग लग गई. बताया जा रहा है कि आतिशबाजी के दौरान लापरवाही के कारण यह हादसा हुआ है. वहीं आग लगने के घंटों बाद भी दमकल की गाड़ियां मौके पर नहीं पहुँचीं.

नौबस्ता थाना क्षेत्र के यशोदा नगर पेट्रोल लाइन स्थित खड़े ट्रक में लगी थी भीषण आग. यह आग पटाखे से लगी थी. मौके पर दमकल की गाड़ी मौजूद नहीं थी. यह ट्रक बरौनी-कलकत्ता पेट्रोल लाइन के ऊपर खड़ा था. इस आग से बड़ा हादसा हो सकता था.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।