आप यहां हैं : होम» देश

घूस के आरोपों से घिरे सीबीआई के दोनों शीर्ष अधिकारी फ़ोर्स लीव पर

Reported by nationalvoice , Edited by shabahat.vijeta , Last Updated: Oct 24 2018 10:02AM
CBI_2018102410252.jpg

नई दिल्ली. सीबीआई में मचे घमासान के बीच इस जांच संस्था के प्रमुख आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना दोनों को छुट्टी पर भेज दिया गया है. दोनों अफसरों को फोर्स लीव पर भेजे जाने के बाद उनके सीबीआई मुख्यालय स्थित दफ्तरों को सील कर दिया गया है.

वहीं ज्वाइंट डायरेक्टर एम नागेश्वर राव को सीबीआई का अंतरिम निदेशक बनाया गया है. अग्रिम आदेशों तक अब सीबीआई का संचालन एम नागेश्वर राव करेंगे. सीबीआई, कार्मिक मंत्रालय के अधीन आता है. इस मंत्रालय के प्रभारी खुद पीएम मोदी हैं.

बताया जा रहा है कि मांस कारोबारी मोइन कुरैशी को क्लीन चिट देने को लेकर कथित तौर पर घूस लेने के आरोपों पर सीबीआई ने अपने ही स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना पर FIR दर्ज करा दी थी. जिसके बाद राकेश अस्थाना ने सीबीआई चीफ आलोक वर्मा पर भी दो करोड़ रुपये घूस लेने का आरोप लगा दिया. दोनों शीर्ष अफसरों के बीच चल रहे आरोप-प्रत्यारोप से सीबीआई की विश्वसनीयता पर भी सवाल उठने लगे थे. जिसे देखते हुए पीएम मोदी के आदेश पर दोनों ही अधिकारियों को छुट्टी पर भेजा गया है.

इसी मामले में कल सीबीआई के डिप्टी एसपी देवेन्द्र कुमार को गिरफ्तार किया गया था. वहीं विपक्ष ने भी मामले में सीधे सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए इसे तूल देने की कोशिश की, और आखिरकार सीबीआई डॉयरेक्टर आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना को फोर्सली छुट्टी पर भेजा गया.


देश-दुनिया की अन्य खबरों और लगातार अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।